हरियाणा मेल ब्यूरो
21/04/2017  :  09:21 HH:MM
डा.अमरजीत सिंह से मिले मुख्य सचिव ढेसी
Total View  50

हरियाणा के मुख्य सचिव डी.एस. ढेसी ने आज सतलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) नहर को लेकर भारत सरकार में जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय के सचिव डा. अमरजीत सिंह से मुलाकात की। नई दिल्ली स्थित श्रम शक्ति भवन में आयोजित इस मुलाकात में सतलुज यमुना लिंक नहर के निर्माण को लेकर सचिव के समक्ष हरियाणा का पक्ष मुख्य सचिव ने रखा।
श्री ढेसी ने मुलाकात के उपरांत जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा के सर्वदलीय प्रतिनिधिमण्डल ने 28 नवंबर, 2016 को राष्ट्रपति सतलुज यमुना लिंक नहर के निर्माण को लेकर ज्ञापन सौंपा था। ज्ञापन पर आगामी कार्यवाही के तौर पर केंद्रीय जल संसाधन सचिव ने इस विषय पर बैठक रखी थी। उन्होंने बताया कि जल संसाधन मंत्रालय के सचिव को उस ज्ञापन में रखे गए विषय से अवगत कराया गया। केंद्र सरकार सतलुज यमुना लिंक नहर के अधूरे हिस्से का शीघ्र निर्माण कराए। एसवाईएल के विषय में दो मुद्दों का प्रमुखता से जिक्र किया गया। जिनमें पहला तो उच्चतम न्यायालय के जनवरी 2002 व जून 2004 में आए निर्णय तथा दूसरा 10 नवंबर, 2016 को प्रेजिडेंशियल रेफरेंस पर निर्णय है। हरियाणा सरकार ने इनके क्रियांवयन के लिए उच्चतम न्यायालय में एक जून, 2016 को एक्जीक्यूशन एह्रश्वलीकेशन डाली हुई है। जिस पर 10 और 12 अप्रैल को सुनवाई हो चुकी है और आगामी 27 अप्रैल को भी सुनवाई होनी है। उन्होंने बताया कि एसवाईएल के अधूरे हिस्से के निर्माण शीघ्रता से कराया जाए और उच्चतम न्यायालय का अंतिम निर्णय को लागू कराया जाए। इस मुलाकात के दौरान सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग हरियाणा के प्रधान सचिव अनुराग रस्तोगी तथा इंजीनियर इन चीफ बीरेंद्र सिंह भी साथ रहे।





----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9353836
 
     
Related Links :-
बवाना उपचुनाव: केजरीवाल की फिर अग्नि परीक्षा
लंबा खिंच सकता है डोकलाम में चीन के साथ गतिरोध
जांगिड़ ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने नेमी चन्द शर्मा
शहीद लोंगोवाल की बरसी पर उमड़े लोग
मोदी, सोनिया, मनमोहन, राहुल और प्रियंका ने दी श्रद्धांजलि
पुलिस किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम : संधू
डोकलाम गतिरोध : भारत-चीन के आर्थिक संबंधों का नया आयाम
ट्रैंक्विल त्रिलोग्स नामक अनूठी चित्रकला प्रदर्शनी आज से
जाटों ने कैह्रश्वटन अभिमन्यु को दिखाए काले झंडे
पर्रिकर ने सामना के संपादकीय को बताया फर्जी खबरों पर आधारित