हरियाणा मेल ब्यूरो
16/05/2017  :  10:48 HH:MM
हैल्प लाईन की गतिविधियों पर सख्ती से की जा रही है निगरानी
Total View  153

पंजाब राज्य के लोगों को बेहतर और समय पर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध के उदेश्य से आज यहां स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्री पंजाब ब्रहम महिन्द्रा द्वारा एक अहम निर्णय लेते हुये एमरजैंसी हालात में जरूरत मंद या पीडि़त द्वारा मंागी गई मदद या शिकायत को प्राथमिकता के आधार पर एक घंटे में हल करने के निर्देश जारी किये गये है। पहले इस कार्य के लिए 6 घंटे का समय निर्धारित था। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अधिकारी यह यकीनी बनाये कि 104 हैल्प लाईन सेवा पर एमरजैंसी से संबधित शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर एक घंटे में हल किया जाए।

104 हैल्प लाईन सेवा

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाई जाने वाली 104 हैल्प लाईन सेवा विशेष रूप से आम लोगों को सरकारी अस्पतालों में आने वाली समस्याओं के हल के लिए स्वास्थ्य संबधी सुझाव , योजनाए और कार्यक्रमों की जानकारी देने के लिए शुरू की गई थी पंरतु महत्वपूर्ण योजना होने के वाबजूद भी हैल्प लाईन पर दर्ज हुई शिकायतों के मामले बड़े लम्बे समय से लम्बित पडे थे और ना ही इन शिकायतो पर कोई कार्यवाही की गई जिसके लिए उनके द्वारा मामलों पर कार्यवाही के आदेश दिये गये है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 104 हैल्प लाईन कंट्रोल केन्द्र को आदेश दिये गये है कि यदि जिला प्रशासन द्वारा एमरजैंसी शिकायत के हल संबधी कार्यवाही निर्धारित समय में नही की जाती तो शीघ्र इसकी सूचना डायरैक्टर स्वास्थ्य को की जाए जिसके पश्चात डायरैक्टर द्वारा अपनी निगरानी अधीन संबधित मामला हल करवाया जाएगा और लापरवाही करने वाले अधिकारी या कर्मचारी पर विभागीय कार्यवाही की जाएगी जो शिकायत क गंभीरता पर आधारित होगी।

श्री महिन्द्रा ने बताया कि जरूरी पंरतु गैर एमरजैंसी शिकायतों को निपटारा करने के लिए दो दिन निर्धारित किये गये है जिसके लिए पहले एक सप्ताह का समय निर्धारित था औरअन्य आम शिकायतों का निपटारा मौके पर करने के आदेश दिये गये है। उन्होने बताया कि अब तक 104 हैल्प लाईन पर कुल 764047 कालें सुनी गई है जिनमें से मुख्य रूप से 449263 कालें विभिंन जानकारियों लेने के लिए और 17229 कालें शिकायतों से संबंधित है। मैडीकल सलाह लेने के लिए 50878 कालें , सुझाव देने संबंधी 208,कोैसलिंग के मामले 496, एमसीटीएस संबधित 201823 और 44150 कालें फोलोअप अधीन की गई।


स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 104 हैल्प लाईन नम्बर की सेवा द्वारा लाभपात्री स्वास्थ्य विभाग की विभिंन स्कीमों और कार्यक्रमों की जानकारी हासिल कर सकते है और स्वास्थ्य से संबधित विशेषज्ञों की सलाह भी ले सकते है। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग आम लोगों को बेहतर सेवाए उपलब्ध करवाने के लिए वचनबद्ध है और उनके द्वारा विभाग की उच्चाधिकारियों को निर्देश जारी किये गये है कि एमरजैंसी मामलों का हल निर्धारित समय में करना यकीनी किया जाए और यदि एमरजैंसी और गंभीर मामले में कोई अधिकारी या कर्मचारी लापरवाही करता है तो उसके विरूद्ध शीघ्र विभागीय कार्यवाही की जाए। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के किसी भी कर्मचारी या अधिकारी का डियूटी के प्रति गैर जिम्मेवार रवैये को किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नही किया जाएगा।





----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1895537
 
     
Related Links :-
पंजाब में बारिश से ठंड के तेवर तीखे हुए, फसलों को फायदा
अस्तपतालों की चूक से दिल्ली में 35 की मौत
टीबी एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान
विज ने फोर्टिस की जमीन की लीज रद्द करने की सिफारिश की
नए दृष्टिकोण दिलाएगा देश को कुष्ठ रोग से मुक्ति
‘क्लिनिकल इस्टेब्लिशमैंट एक्ट’ होगा लागू : विज
कभी लिंगानुपात में पीछे सोनीपत अब बेटियां बचाने में सबसे आगे
50 के उम्र के बाद टीकाकरण जरुरी
वायु प्रदूषण: बांटे हवा साफ करने वाले पौधे
चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ से सहमी मुंबई