समाचार ब्यूरो
16/05/2017  :  11:27 HH:MM
फाइनल का टिकट कटाने के लिये भिड़ेंगे मुंबई-पुणे
Total View  338

इंडियन प्रीमियर लीग में खिताबी हैट्रिक का सपना देख रही मुंबई इंडियन्स बुधवार को अपने घरेलू मैदान पर 10वें संस्करण के फाइनल का टिकट कटाने के लिये पहले क्वालिफायर मुकाबले में राइङ्क्षजग पुणे सुपरजाएंट्स से भिड़ेगी। आईपीएल ट्वंटी 20 टूर्नामेंट में मुंबई की टीम सफल टीमों में है जिसने दो बार वर्ष 2013 और 2015 में चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया है। वर्ष 2010 में मुंबई यहां उपविजेता भी रही थी और आईपीएल के 10वें संस्करण में भी उसने कमाल का प्रदर्शन करते हुये बाकी टीमों को खुद से आगे निकलने नहीं दिया। मुंबई लीग के 14 मैचों में सर्वाधिक 10 जीतकर 20 अंकों के साथ शीर्ष पर रही है।

वहीं लीग में मात्र अपना दूसरा संस्करण ही खेल रही पुणे की टीम ने कई अनुभवी टीमों को चौंकाते हुये पहली बार ह्रश्वलेआफ में जगह बनाई है और वह 14 मैचों में नौ जीतकर 18 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर रही। महाराष्ट्र की इन दो घरेलू टीमों के बीच निश्चित ही पहले क्वालिफायर में कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी जहां मुंबई अपनी इसी लय को कायम रखते हुये फाइनल में जगह बनाने की कोशिश करेगी तो पुणे भी सीधे ही फाइनल में जगह बनाना चाहेगी। आईपीएल में दो शीर्ष टीमों में रहते हुये हालांकि दोनों टीमों के लिये इस बात का फायदा है कि जीतने वाली टीम सीधे फाइनल में प्रवेश कर लेगी तो वहीं हारने वाली टीम के पास क्वालिफायर दो खेलने का मौका रहेगा। लेकिन अपनी कह्रश्वतानी में मुंबई को दो बार चैंपियन बना चुके रोहित की कोशिश रहेगी कि वह अपने घरेलू वानखेड़े मैदान पर परिस्थितियों का फायदा उठाते हुये जीत दर्ज करें।

हालांकि यह दिलचस्प तथ्य है कि मुंबई की टीम ने इस बार अपने घरेलू वानखड़े स्टेडियम पर सात मैच खेले हैं और उसमें से केवल दो ही हारे हैं जिसमें एक मैच उसने पुणे से बड़े ही रोमांचक अंदाज में तीन रन से गंवाया था जबकि दूसरे मैच में उसे पंजाब ने सात रन से हराया था। वहीं मुंबई और पुणे इस बार आईपीएल में दो बार एक दूसरे से मुकाबला कर चुकी हैं जिसमें पुणे की टीम दो बार की विजेता टीम पर भारी पड़ी है और उसने टूर्नामेंट के उद्घाटन मैच में ही मुंबई को अपने घरेलू मैदान पर सात विकेट से हरा दिया था। इसके बाद पुणे ने मुंबई को उसी के मैदान पर तीन रन से हराया था। 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4634189
 
     
Related Links :-
एशियाई खेलों के कोचिंग कैंप से बाहर हुई हरियाणा की फोगाट बहनें
शशांक मनोहर दोबारा बने आईसीसी चेयरमैन
मुंबई और पंजाब के बीच ‘करो या मरो’ का मुकाबला आज
सुशील को कभी डांटने की जरूरत नहीं पड़ी : सतपाल
फुटबाल में भी बेहतर करियर : शेर सिंह चौहान
प्रणीत और समीर आस्ट्रेलियाई ओपन बैडमिंटन के क्वार्टर फाइनल में पहुंच
चेन्नई से राजस्थान रॉयल्स की कड़ी परीक्षा
पट्टीकल्याणा की पहलवान बेटी को किया गया सम्मानित
हरियाणा में लड़कियों को ज्यादा सुविधाएं मिल रही है : मनु भाकर
पंजाब के दो पावर लिटरों ने जीते स्वर्ण पदक