हरियाणा मेल ब्यूरो
17/05/2017  :  09:17 HH:MM
सार्वजनिक स्थलों पर छेडख़ानी करने वालों की अब खैर नही
Total View  154

पुलिस द्वारा सडक़ों, घरों, कार्य स्थलों एवं सार्वजनिक स्थलों पर महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पहली मई, 2017 से शुरू किये गए ऑप्रेशन दुर्गा के पहले पखवाड़े के दौरान 125 छेड़छाड़ ग्रस्त इलाकों की पहचान की गई, 24007 मनचलों को चेतावनी दी गई, 5880 के चालान किये गए तथा 15 को जेल भेजा गया।

शोहदों को चेतावनी देकर छोड़ा गया : पुलिस विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि इस अभियान के दौरान 23185 मनचलों और शोहदों को मौके पर चेतावनी देकर छोड़ा गया तथा 822 को थाने में परिवार की मौजूदगी में चेतावनी दी गई। 5880 का टै्रफिक नियमों के तहत चालान किया गया और 30 मुकद्दमों में 15 को जेल भेजा गया। पलवल में तीन मुकद्दमें दर्ज कर तीन को गिरफ्तार किया गया, फरीदाबाद में एक मुकद्दमा दर्ज कर चार को गिरफ्तार किया गया, फतेहाबाद में दो मुकद्दमें दर्ज कर दो को गिरफ्तार किया गया और गुरुग्राम में 24 मुकद्दमों में छ: को जेल भेजा गया। बन जा बहादुर : प्रवक्ता ने बताया कि इस अभियान के तहत पुलिस बन जा बहादुर के जरिये स्कूलों, कॉलेजों एवं पंचायतों को प्रेरित करेगी कि वे साहसिक खेलों, आत्मरक्षा प्रशिक्षण और पब्लिक स्पीकिंग आदि के माध्यम से लड़कियों एवं महिलाओं का भय मिटाएं और उन्हें खतरे से निपटने के लिए तैयार करें। उन्होंने बताया कि ऑप्रेशन दुर्गा के तहत महिला पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में गश्त एवं छापेमारी कर रहीं हैं। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य महिला सुरक्षा सुनिश्चित करना है, जिसके तहत सार्वजनिक जगहों पर प्रभावी पुलिस गश्त और धरपकड़ से छेड़छाड़ की गतिविधियों पर अंकुश लगाया जा रहा है। पुलिस की प्रभावी मौजूदगी और मनचलों और शोहदों के खिलाफ त्वरित कार्यवाही कर
महिलाओं को निर्भय मुक्त वातावरण देने पर जोर दिया जा रहा है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3253741
 
     
Related Links :-
मधु कोड़ा को 3 साल जेल और 25 लाख जुर्माना
ट्रिपल तलाक पर ३ साल की जेल
सोनीपत में टला बड़ा रेल हादसा
निकोटिन जहर तो घोषित किया पर बिक्री रोकने के लिए क्या किया ?
राष्ट्रीय लोक अदालत में 638 मुकदमें निपटे
गर्लफ्रेंड की खातिर एक शख्स को मारकर जलाया
मारा गया उमर खेताब
सौतेली मां की बर्बरता का चाइल्ड राइट कमीशन ने लिया संज्ञान
हरियाणा सरकार को नोटिस जारी, दबाव में आत्महत्या का मामला
पत्नियों पर अत्याचार के मामले में जयपुर पहले, दिल्ली दूसरे स्थान पर