11/11/2016  :  13:53 HH:MM
अक्टूबर में सुस्त पड़ी कारों की बिक्री
Total View  732

डीलरों द्वारा सितंबर में ही इंवेंटरी तैयार कर लेने से त्योहारी मौसम तथा अच्छे मानसून के बावजूद इस साल अक्टूबर में कारों की घरेलू बिक्री में 0.45 प्रतिशत की बेहद मामूली तेजी दर्ज की गयी जो चार महीने में सबसे कम है। वहीं, कॉम्पैक्ट एसयूवी की माँग बढऩे से उपयोगी वाहनों की बिक्री अब तक के रिकॉर्ड स्तर 70,544 इकाई पर पहुँच गयी।

 वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम द्वारा आज यहाँ जारी आँकड़ों के अनुसार, इस साल अक्टूबर में देश में कुल 1,95,036 कारें बिकीं जबकि पिछले साल अक्टूबर में 1,94,158 कारें बिकी थीं। जुलाई में यात्री कारों की बिक्री 9.62 प्रतिशत, अगस्त में
9.53 प्रतिशत तथा सितंबर में 15.14 प्रतिशत बढ़ी थी। सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने बताया कि डीलरों द्वारा सितंबर में ही इंवेंटरी तैयार कर लेने से अक्टूबर में बिक्री में वृद्धि कम रही है। हालाँकि, खुदरा बिक्री अक्टूबर में भी अच्छी रही। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर यह त्योहारी मौसम ऑटो उद्योग
के लिए अच्छा रहा। उपयोगी वाहनों की बिक्री में सात महीने की सबसे धीमी 21.37 प्रतिशत बढ़ोतरी दर्ज की गयी। इसके बावजूद यह बिक्री अब तक के रिकॉर्ड स्तर 70,544 इकाई पर रही। 

पाँच महीने के निचले स्तर पर मोटरसाइकिलों की बिक्री की वृद्धि दर पाँच महीने के निचले स्तर पर रही। यह 7.37 प्रतिशत बढक़र 11,44,516 पर पहुँच गयी। पिछले साल अक्टूबर में देश में 10,55,925 मोटरसाइकिलें बिकी थीं। यह लगातार तीसरा महीना है जब मोटरसाइकिलों की बिक्री 10 लाख से ज्यादा रही है। सियाम के
उपमहानिदेशक सुगातो सेन ने बताया कि वर्ष 2013 में भी त्योहारी मौसम में मोटरसाइकिलों की बिक्री 11 लाख से ऊपर रही थी। यह पिछले पाँच साल के यह 10 लाख से 12 लाख के बीच है जो बाजार में ठहराव की ओर इशारा करती है। स्कूटरों तथा स्कूटी की बिक्री में जनवरी (7. 8 5 प्रतिशत) के बाद पहली बार वृद्धि दर इकाई अंक में रही है। अक्टूबर में यह 8.24 प्रतिशत बढक़र 5,68,410 पर रही। पिछले साल समान महीने में देश में 5,25,138 स्कूटर/स्कूटी बिकी थी। दुपहिया वाहनों की कुल बिक्री 8.72 प्रतिशत बढक़र 18,00,672 इकाई रही। श्री सेन ने कहा कि कुल मिलाकर चालू वित्त वर्ष के पहले सात महीने में सभी श्रेणी के वाहनों की
बिक्री बढ़ी है जो उत्साहजनक है। यात्री वाहनों की बिक्री 11.02 प्रतिशत, दुपहिया वाहनों की 16.01 प्रतिशत, तिपहिया वाहनों की 11.84 प्रतिशत, हल्के वाणिज्यिक वाहनों की 6.92 प्रतिशत तथा मध्यम तथा भारी वाहनों की 1.30 प्रतिशत बढ़ी है। उन्होंने कहा कि मध्यम तथा भारी वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री अब तक गिरावट में थी। अक्टूबर में अच्छी बिक्री से यह भी सकारात्मक हो गयी है। अक्टूबर में मध्यम तथा भारी वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 16.92 प्रतिशत बढक़र 25,934 इकाई पर तथा हल्के वाणिज्यिक वाहनों की 8.84 प्रतिशत बढक़र 39,635 इकाई पर रही। तिपहिया वाहनों की बिक्री 4.35 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 54,653 इकाई पर पहुँच गयी। देश में सभी श्रेणी के सभी वाहनों की कुल बिक्री 8.14 प्रतिशत बढक़र 22,01,571 इकाई रही। आलोच्य महीने में कारों, उपयोगी वाहनों तथा वैनों समेत यात्री वाहनों का निर्यात 14.03 प्रतिशत, मध्यम तथा भारी वाणिज्यिक वाहनों का 23.78 प्रतिशत तथा हल्के वाणिज्यिक वाहनों का 25.97 प्रतिशत जबकि तिपहिया वाहनों का 12.59 प्रतिशत तथा दुपहिया वाहनों का 2.89 प्रतिशत घट गया। इस प्रकार कुल निर्यात 0.31 प्रतिशत बढक़र 2,90,243 इकाई रहा जो पिछले साल अक्टूबर में 2,89,343 इकाई था। 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1405791
 
     
Related Links :-
सिंडिकेट बैंक के 94वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य पर रक्तदान शिविर का आयोजन
मंडी में किसानों को अपनी धान बेचने के लिए खाने पड़ रहे हैं धक्के
विद्युत उत्पादन निगम को 16वें नेशनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन कोस्ट मैनेजमैंट-2018 में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ
गुरुनानक देव का प्रकाश पर्व: एयर इंडिया ने विमान पर ‘एक ओंकार’ का चिह्न बनाया
निसान ने टोक्यो मोटर शो में आरिया कॉन्सेह्रश्वट का अनावरण किया
येस बैंक ने मलोट में खोली नई शाखा
किसानों को बागवानी की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है
जिला में आतिशबाजी की बिक्री के लिए स्थान निर्धारत किए
फ न्र्स एन पेटल्स हरियाणा में बढ़ा रही है अपना नेटवर्क
येस बैंक ने एमईआईटीवाई स्टार्टअप समिट में जीता डिजिटल पेमेंट्स अवॉर्ड