हरियाणा मेल ब्यूरो
18/05/2017  :  10:14 HH:MM
पहले बच्चे पर सभी महिलाओं को मिलेंगे छह हजार रुपए
Total View  155

नई दिल्ली त्नकेंद्र सरकार ने मातृत्व लाभ कार्यक्रम के तहत महिलाओं को उनके पहले बच्चे के जन्म पर 6000 रुपए देने के प्रावधान को पूरे देश में लागू करने का फैसला किया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज यहां हुई मंत्रिमंडल की बैठक के बाद केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इसमें मातृत्व लाभ कार्यक्रम को पूरे देश में लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी।उन्होंने बताया कि इसका मकसद महिलाओं को प्रसूति समय में होने वाली पोषक तत्वों की कमी पूरी करने में मदद करना है।यह राशि पहले बच्चे के गर्भधारण के समय से लेकर प्रसव के समय तक तीन किस्तों में दी जाएगी।श्री गोयल ने कहा कि सरकार के कदम से महिलाओं को गर्भधारण के समय से प्रसव के समय तक पूरा आराम मिलेगा और उनका स्वास्थ्य बेहतर रहेगा।इससे गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार होगा।





----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5302858
 
     
Related Links :-
डॉ. अशोक तंवर ने की चिंतन शिविर की कड़ी आलोचना
तीन वर्षों में हरियाणा ‘कुपोषण मुक्त’ बनेगा : मुख्यमंत्री
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चंडीगढ़ में एनआईटीआई आइयोग और सेंटर फॉर हेल्थ रिसर्च एंड डेवलपमेंट सोसाइटी फॉर अह्रश्वलाइड स्टडीज के सहयोग से हरियाणा में कुपोषण प्रबंधन और उन्मूलन पर राष्ट्रीय स्तर की परामर्श कार्यशाला में तथ्य पत्रक जारी किया।
पंजाब में बारिश से ठंड के तेवर तीखे हुए, फसलों को फायदा
अस्तपतालों की चूक से दिल्ली में 35 की मौत
टीबी एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान
विज ने फोर्टिस की जमीन की लीज रद्द करने की सिफारिश की
नए दृष्टिकोण दिलाएगा देश को कुष्ठ रोग से मुक्ति
‘क्लिनिकल इस्टेब्लिशमैंट एक्ट’ होगा लागू : विज
कभी लिंगानुपात में पीछे सोनीपत अब बेटियां बचाने में सबसे आगे