समाचार ब्यूरो
19/05/2017  :  10:46 HH:MM
बेंगलुरु हवाई अड्डे पर ई-गेट की सुविधा, पाँच सेकेंड में होगी बोर्डिंग
Total View  325

कफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट ने बेंगलुरु हवाई अड्डे पर अपने यात्रियों के लिए स्वचालित ई- गेट सुविधा शुरू की है जिससे सिर्फ पाँच सेकेंड में बोर्डिंग प्रक्रिया पूरी हो जाती है।एयरलाइन ने आज एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि बेंगलुरु के केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर इस सुविधा का इस्तेमाल करने वाली वह पहली विमान सेवा कंपनी है।
इसमें यात्री को अपने बोर्डिंग पास या मोबाइल अथवा स्मार्टवॉच में मौजूद ई-बोर्डिंग पास को ई-गेट पर लगी मशीन से स्कैन करना होता है और पाँच सेकेंड में बोर्डिंग प्रक्रिया पूरी हो जाती है।उसने बताया कि अब तक किये गये परीक्षण में पाया गया है कि ई- गेट से एक ही कतार के जरिये प्रवेश देने पर बोर्डिंग प्रक्रिया आठ से 10 मिनट में पूरी हो जाती है जबकि पहले इसमें 25 मिनट का समय लगता था। इससे जहाँ यात्रियों को बोर्डिंग के लिए कतार में कम समय के लिए खड़ा रहना पड़ता है, वहीं विमान के हवाई अड्डे पर आने और उसके दूसरी उड़ान भरने के समयांतराल को कम करने का विकल्प भी एयरलाइन को मिल जाता है।कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया की इलेनियम ऑटोमेशन के सहयोग से ई-गेट सुविधा शुरू की है।इसमें बोर्डिंग गेट को डिपार्चर कंट्रोल सिस्टम के साथ जोड़ दिया गया है जिससे बोर्डिंग प्रक्रिया स्वत: पूरी हो जाती है।बेंगलुरु अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (बायल) के अध्यक्ष (हवाई अड्डा परिचालन) हरि मरार ने कहा च्च्हम लगातार नयी तकनीकों पर काम कर रहे हैं जिससे एयरलाइंस अपने ग्राहकों को बेहतर सुविधाएँ दे सकें। ई-गेट बोर्डिंग सुविधा उन्हीें में से एक है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   650193
 
     
Related Links :-
उतार-चढ़ाव के बाद सपाट रहा बाजार
एसबीआई और पीएनबी बेच रहे 1,063 करोड़ के एनपीए
वैवाहिक मांग आने से सोने- चांदी की कीमतों में तेजी
किसानों की हालत सुधारने के लिए सरकार लगा रही ऐड़ी चोटी का जोर
चीन पर 100 बिलियन डॉलर का लगेगा अतिरिक्त शुल्क : ट्रम्प
कमजोर मांग से उतरे सोने-चांदी के भाव
उतार-चढ़ाव के बाद सपाट रहा बाजार
शहरवासियों ने 42.75 करोड़ प्रापर्टी टैक्स जमा कराया
ट्रूविजन ने किया टीएक्स408 जेड को लॉन्च
सरकार ने चालू वित्त वर्ष में विनिवेश से एक लाख करोड़ से अधिक जुटाए : जेटली