हरियाणा मेल ब्यूरो
20/05/2017  :  08:38 HH:MM
हुडा ह्रश्वलाट मामले में बार-बार दी गई गलत जानकारियां
Total View  35

हरियाणा अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (हुडा) के डिस्क्रिशनरी कोटे के तहत एक ही परिवार में एक से अधिक ह्रश्वलाट लिए जाने के मामले में बार-बार दी गई गलत जानकारी और दायर हलफनामों में किये गए बदलावों दर्ज एफ.आई.आर. और कैंसिलेशन रिपोर्ट्स पर हाई कोर्ट ने अब कड़ा रुख अपनाते हुए हुडा के मुख्य प्रशासक को छह सप्ताह के बीच इस मामले में विस्तृत हलफनामा दायर कर पूरी जानकारी मांग ली है ।

जस्टिस दया चौधरी ने आदेश जारी कर कहा कि इस मामले में क्यों सभी के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज नहीं की गई किस आधार पर अन्य लोगों को छोड़ा गया और कुछ के खिलाफ दर्ज मामलों में कैंसिलेशन रिपोर्ट भी दायर कर दी गई इसके अलावा हाई कोर्ट ने हुडा के मुख्य प्रशासक से यह जानकारी भी मांग ली है
कि, जिसमें ह्रश्वलाट नंबर, सेक्टर, दर्ज एफ.आई.आर., दायर आपराधिक मामले की स्थिति, नोटिस जारी किये गए या नहीं और जिन्हें नोटिस जारी किये गए हैं उनका क्या जवाब आया है इसकी पूरी जानकारी छह सप्ताह में हलफनामा दायर कर 2 अगस्त को मामले की अगली सुनवाई पर दी जाये तांकि हाईकोर्ट इस मामले में अंतिम फैसला सुना सके। हाई कोर्ट ने कहा की इस मामले में उन्होंने समय-समय पर पॉलिसी में किये गए बदलाव, उसी शर्तों आदि पर दोनों पक्षों के बीच विस्तार से दलीलें सुनी हैं दलीलें और रिकॉर्ड से यही सामने आया कि, इस पॉलिसी में लगातार बदलाव किये गए न सिर्फ अलॉटियों द्वारा परफोर्मे के हलफनामे में यह बदलाव किये गए बल्कि कई बार गलत जानकारियां दे ह्रश्वलॉट्स हासिल किये गए हैं इस मामले में हुडा पर भी कई आरोप लगे हैं कि, उन्होंने शक्तियों का दुरूपयोग किया कुछ मामलों में एफ.आई.आर. दर्ज की गई लेकिन कई मामलों में एफ.आई.आई. तक दर्ज करना जरुरी नहीं समझा गया कई ह्रश्वलॉट्स आगे से आगे से बिकते रहे
उसके बाद ह्रश्वलॉट्स बेचने वालों ने ही दोबारा गलत हलफनामा दे फिर ह्रश्वलॉट्स हासिल कर लिए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1804565
 
     
Related Links :-
एक बार फिर से जांच के घेरे में राजद सुप्रीमो लालू
पांच साल की बच्ची से रेप मामले में आरोपी को 15 साल की सजा
आप नेता खैहरा की पिटीशन खारिज
पिंटो परिवार को अग्रिम जमानत अभी नही
हार्दिक पटेल को फंसाने के लिए भाजपा ने तैयार कराए 52 सेक्स सीडी
कोर्ट के सवाल का जवाब नहीं दे पाई सीबीआई
सरकार खुद कराएगी मेट्रो, रेल और एयरपोर्ट पर साइबर अटैक!
आईएस ने दी कुंभ मेले में लास वेगास जैसे हमले की धमकी
सीबीआई जांच के लिए दबाव नहीं देने को कहा गया था : वरुण ठाकुर
हाई सिक्योरिटी नम्बर ह्रश्वलेट नहीं मिली तो होगा चालान : एसडीएम