हरियाणा मेल ब्यूरो
20/05/2017  :  08:59 HH:MM
दस में से हर तीसरा व्यक्ति हाईप्रटेैनशन का शिकार
Total View  158

स्वास्थ्य विभाग ने विश्व हाईप्रटैनशन दिवस के मोैके राज्य के नागरिकों को जागरूक करने के लिए व्यापक मुहिम की शुरूवात की है। इस अधीन राज्य के लोगों को अधिक ब्लड प्रैशर के प्रभावों से सतर्क करने के लिए जागरूकता वैन की शुरूवात की गई है।

जिसके द्वारा लोगों को हाईप्रटैनशन संबंधी पूणर््ा जानकारी दी जाएगी और स्वस्थ जीवन को बनाये रखने के लिए कसरत और अन्य साधनों की जानकारी भी दी जाएगी। स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री ब्रहम महिन्द्रा ने बताया कि आज इस आधुनिक युग में हम इतने व्यस्त हो चुके है कि हमारे पास अपने स्वस्थ्य जीवन को बकरार रखने का भी समय नही है जिस कारण देश भर के लोग विभिंन बीमारियों से पीडि़त होते जा रहे है। जो एक बड़ी चिंता का विषय है। उन्होने बताया कि एक सर्वेक्षण अनुसार दस में प्रत्येक तीसरा व्यक्ति हाईप्रटैनशन का शिकार हो रहा है। जो केवल स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियों को नजरअंदाज करना और समय पर अपना शरीरिक चैकअप ना करवाने का नतीजा है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि समय समय पर सरकारी अस्पतालों में जाकर अपना ब्लड प्रैशर के साथ अन्य आम जांच भी करवाते रहना चाहिए। जिसकी सुचारू व्यवस्था के लिए स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों को निर्देश भी जारी की गये है कि आम लोगों को विभिंन स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ लेने के लिए सरकारी अस्पतालों में किसी भी स्तर पर परेशानी ना हो। उन्होने लोगों को अपील करते हुये कहा कि समय पर अपनी शरीरिक जांच करवाये खासतौर पर ब्लड प्रैशर चैक करवाना यकीनी करे ताकि ब्लड प्रैशर बढऩे के बाद होने वाली बीमारियों को रोका जा सके।

पंजाब सरकार का प्रयत्न

श्री महिन्द्रा ने बताया कि पंजाब सरकार का प्रयत्न है कि राज्य का प्रत्येक नागरिक स्वास्थ्य रहे जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग में उच्च स्तर पर विभागीय सुधार किये जा रहे है और राज्य के लोग शीघ्र सरकारी अस्पतालों में निजी अस्पतालो की तरह ही स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ ले सकेगें। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अंजलि भावरा द्वारा बताया गया कि अब तक सरकारी अस्पतालों में लगभग 21 लाख लोगों की प्रारभिंक जांच निशुल्क की गई है जिनमें से लगभग चार लाख लोगों में अधिक ब्लड प्रैशर लक्षण पाये गये है। उन्होने लोगों को ब्लड प्रैशर की बीमारी से बचाव के लिए सावधानिया प्रयोग करने के लिए जागरूक किया गया। उन्होने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहरों और गांवों में विशेषकर दूरदराज के क्षेत्रों में कैंप लगाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है जिसके पश्चात बड़ी संख्या में लोग अपने स्वास्थ्य की जांच करवाने के लिए सरकारी अस्पतालों का रूख कर रहे है।डायरैक्टर स्वास्थ्य एंव कल्याण पंजाब डा. एचएस बाली ने बताया कि विभाग द्वारा शुरू की गई निशुल्क स्वास्थ्य चैकअप स्कीमों अधीनों लोगों में शरीरिक जांच करवाने के लिए काफी उत्साह है इस से हम ओर अधिक लोगों की स्क्रीनिंग करके उनको ब्लड प्रैशर की बीमारी से बचाव के साथ साथ अन्य बीमारियों के प्रति भी जागरूक किया जा रहा है।





----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------
----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4351582
 
     
Related Links :-
विशेषज्ञों ने भ्रूण रिससिटैशन और शिशुओं की जीवन क्षमता पर बनाई नीति
डॉ. अशोक तंवर ने की चिंतन शिविर की कड़ी आलोचना
तीन वर्षों में हरियाणा ‘कुपोषण मुक्त’ बनेगा : मुख्यमंत्री
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चंडीगढ़ में एनआईटीआई आइयोग और सेंटर फॉर हेल्थ रिसर्च एंड डेवलपमेंट सोसाइटी फॉर अह्रश्वलाइड स्टडीज के सहयोग से हरियाणा में कुपोषण प्रबंधन और उन्मूलन पर राष्ट्रीय स्तर की परामर्श कार्यशाला में तथ्य पत्रक जारी किया।
पंजाब में बारिश से ठंड के तेवर तीखे हुए, फसलों को फायदा
अस्तपतालों की चूक से दिल्ली में 35 की मौत
टीबी एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान
विज ने फोर्टिस की जमीन की लीज रद्द करने की सिफारिश की
नए दृष्टिकोण दिलाएगा देश को कुष्ठ रोग से मुक्ति
‘क्लिनिकल इस्टेब्लिशमैंट एक्ट’ होगा लागू : विज