Breaking News
लघू सचिवालय के सभागार में डिजीटल हरियाणा कार्यशाला  |  बच्चों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं, सभी मामलों पर कड़ा संज्ञान लिया : जस्टिस मित्तल  |  अनाधिकृत निर्माणों, अतिक्रमण और विज्ञापनों के खिलाफ निगम की कार्रवाई जारी  |  जीवन में भी धार्मिक परंपराओं का विशेष महत्व : उमेश अग्रवाल  |  डिजीटल हरियाणा कार्यशाला का होगा आयोजन हरपथ ऐप पर प्राप्त शिकायतों के निपटारे के लिए अधिकारियों को मिलेगा प्रशिक्षण  |  रोटरी दिवस पर क्लब ने लगाया रक्तदान शिविर  |  बच्चों को प्रेरणा व जागरूक करने के लिए सेमिनार  |  बेहतर भविष्य के लिए सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करना होगा: जस्टिस मित्तल  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
06/06/2017  :  12:10 HH:MM
अंबाला में बनेगा ठोस कचरा प्रबंधन संयंत्र : विज
Total View  373

हरियाणा के स्वास्थ्य,खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री अनिल विज ने कहा कि नगर निगम अंबाला के कचरा प्रबंधन हेतु पटवी गंाव में नया ठोस कूडा प्रबंधन ह्रश्वलांट स्थापित किया जायेगा। करीब 600 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले इस ह्रश्वलांट से बिजली का उत्पादन किया जाएगा।

श्री विज आज विश्व पर्यावरण दिवस पर अ बाला छावनी में आयोजित जिला स्तरीय स्वच्छता अभियान में लोगों को स बोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि अबं ाला, करनाल व आसपास के अन्य शहरों का कूड़ा भी पटवी ह्रश्वलांट में शौधन के लिए लाया जायेगा। मु बई की एक संस्था के सहयोग से नगर निगम अबाला द्वारा प्रत्येक घर में गीले और सूो कूडे के लिए अलग-अलग कूडादान उपलब्ध करवाया जाएगा। यह संस्था लोगों को घर-घर जाकर स्वच्छता अपनाने तथा कचरे को केवल कूडेदानों में ही डालने के लिए प्रेरित करेगी। इस अवसर पर क्षेत्र की सडकों की सफाई के लिए लाई गई मशीन और नई जेसीबी का लोकापर्ण भी किया।

स्वास्थ्य मंत्री ने इस अवसर पर बड़, पीपल व नीम के पौधों की त्रिवेणी लगायी तथा अन्य गणमान्य लोगों ने भी 20 से अधिक पौधे लगाये। हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समझौते की शर्तों के मुताबिक पर्यावरण सुधार के कार्यक्रम जारी र ाने बल दिया जा रहा है जबकि अमरीका जैसे देश इस समझौते से पीछे हट रहे है। श्री विज
ने प्रधानमंत्री, केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा पर्यावरण संरक्षण व स्वच्छता के लिए किये जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि यदि आजादी के बाद से अब तक रही सरकारें इस विषय पर गंभीरतापूर्वक प्रयास करती तो आज देश में पर्यावरण प्रदूषण और गंदगी जैसी समस्या न झेलनी पड़ती। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकारों
ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम को राजनैतिक लाभ के लिए इस्तेमाल किया जबकि उनके आदर्शो ं को धरातल पर लागू करने के लिए कोई संजीदगी नहीं दिखाई।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4764581
 
     
Related Links :-
भविष्य के बदलाव को ध्यान में रखकर करें इमारतों को डिजाइन : देवेश मौदगिल
देश में 2020 तक एक लाख मेगावाट ऊर्जा का उत्पादन करने का लक्ष्य
किसानों को बकाया गन्ने की फसल का भुगतान जल्द
टेबल्ज़ ने गुरुग्राम में किया कोल्ड स्टोन क्रीमरी का शुभारंभ
किरण रिजिजु ने कनाट ह्रश्वलेस में किया ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान का उद्घाटन
दूध बिक्री पर सैस दर 10 पैसे प्रति लीटर से घटाकर 5 पैसे करने को सीएम की स्वीकृति : धनखड़
सरकार ने व्यापारी को मुनीम बनाकर रख दिया : कुलभूषण गोयल
कैटरपिलर ने नेक्स्ट जेनेरेशन 20-टन एक्स्वावेटर पोर्टफोलियो को बेहतर उत्पादकता कम फ्यूल कंसल्टेशन और कम मैनेजमेंट कॉस्ट्स के साथ लॉन्च
सोलर सेक्टर में सरकारी ट्रेनिंग लेकर दें अपने सपनों को नई उड़ान
वंचित लोगों के द्वार पर बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराएगी सरकार