हरियाणा मेल ब्यूरो
15/11/2016  :  10:51 HH:MM
करनाल के सौंदर्यकरण के लिए बनेंगे सात गेट
Total View  79

कर्ण की कर्म भूमि करनाल के सौंदर्यकरण के लिए सात बड़े गेट बनाए जाएंगे, जिनमें से एक गेट का नाम गुरू नानक देव जी के नाम पर रखा जाएगा। यह घोषणा हरियाणा के मु यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल में डेरा कार सेवा में श्री गुरू नानक देव धर्मशाला के पट्ट के शिलान्यास उपरांत गुरू नानक देव जी के प्रकाश उत्सव पर आयोजित एक कार्यक्रम में साध-संगत को स बोधित करते हुए की।

 मु यमंत्री ने कहा कि डेरा कार सेवा में एक लाख स्केयर फुट में चार मंजिल वाली श्री गुरू नानक देव धर्मशाला का निर्माण होगा, जिसमें 52 कमरे और दो बडे हाल होगें और डेरा कार सेवा में एक बडी लाईट की व्यवस्था भी की जाएगी, जिसको नगर निगम या हुडा द्वारा लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्किंग की
व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन के अधिकारी काम करेगें। मु यमंत्री ने अपने ऐच्छिक कोष से धर्मशाला के निर्माण हेतू 21 लाख रुपये देने की भी घोषणा की। गुरू नानक देव को रब का अवतार मानता हूं, मु यमंत्री ने कहा कि गुरू नानक देव ने उस समय जन्म लिया, जब हमारा देश मुगलों के अधीन था। मैं गुरू नानक देव को रब का अवतार मानता हूं, जन्म के समय सारा देश गुलाम था। उनके जन्म लेते ही समाज से अंधेरा छंटने लगा। उन्होंने भक्ति अंदोलन चलाया , गीतों और रागों के द्वारा जनता को जगाने का काम किया। श्री गुरू नानक देव जी के हाथों में बरकत थी। काम भी करना है और रब का नाम भी जपना है तभी समाज सु ाी रहेगा। जाति-पाति की भावना से उपर उठकर रहने का संदेश भी गुरू नानक देव जी द्वारा दिया गया। यह संदेश आज भी पूरी तरह से कायम है और इस संदेश को हमें आगे भी कायम रखना है।

संत कबीर का बहुत बड़ा योगदान उन्होंने यह भी कहा कि अत्याचारों को दूर करने के लिए बंदा बहादुर सिंह ने हथियार उठाएं और जनता के बीच राष्ट्र भक्ति की भावना को पैदा किया, लोग उनकी सेना में भर्ती होते चले गए। उस समय मीरा बाई और संत कबीर ने भी समाज को जागृत करने में बहुत बड़ा योगदान दिया। जब हम आजाद होने को थे अंग्रेजों ने हमें काबू कर लिया लेकिन बाद में भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव सहित काफी सं या में क्रांतिकारियों ने राष्ट्र की आजादी का बिगुल बजा दिया और हम आजाद हो गए। मु यमंत्री ने अपनी अभिव्यक्ति के दौरान आगे कहा कि सरकार के पास जनता की सेवा के लिए बजट होता है वो भी जनता का ही होता है जोकि विकास के कार्यों में जनहित में खर्च किया जाता है। इस अवसर पर वर्तमान गद्दी नसीन एवं बाबा बंदा बहादुर सिंह के दसवें वंशज बाबा जतिन्द्र पाल सिंह सोढ़ी ने मु यमंत्री सहित सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि भाईचारे में एकता को बढ़ावा देने का काम प्रधानमंत्री और मु यमंत्री ने करके दिखाया है। इस सीख को हमें आगे बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काले धन के खिलाफ कार्यवाही करते हुए एक बड़ा फैंसला लिया है। प्रधानमंत्री का यह कदम बहुत की सहरानीय है। इस कदम में आम आदमी की भलाई छिपी है। इस मौंके पर बाबा बुटा सिंह ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर नीलोखेडी के विधायक भगवान दास कबीरपंथी, मु यमंत्री के ओएसडी अमरेन्द्र सिंह, नगर निगम की मेयर रेनू बाला गुप्ता, पंथ रतन बाबा हरबंस सिंह, कार सेवा दिल्ली से बाबा बचन सिंह, बाबा सुरेन्द्र सिंह, डेरा कार सेवा करनाल से बाबा सुखा सिंह, सरदार गुरविन्द्र, सरदार भूपेन्द्र सिंह, लोकसभा निगरानी कमेटी के संयोजक अशोक सुखीजा, सीनियर डिह्रश्वटी मेयर कृष्ण गर्ग, महामंत्री एडवोकेट वेदपाल, कुलदीप शर्मा, प्रवीन लाठर, नवीन बत्तरा, भगवानदास अग्गी के अलावा जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त मंदीप सिंह बराड, एसपी पंकज नैन, एसडीएम योगेश कुमार, आयुक्त नगर निगम आदित्य दहिया सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। मु यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिए गए नोट बदलने के निर्णय से 98 प्रतिशत लोग खुश है और प्रधानमंत्री के फैंसले को ऐतिहासिक फैंसला मान रहे है लेकिन जो दो प्रतिशत लोग है बाहर से वो भी मुस्कार रहे है उनके अन्दर क्या है ये तो वही जानते है। 





----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8759204
 
     
Related Links :-
कांग्रेस भी गुरदासपुर उपचुनाव के लिए सक्रिय होने लगी
न्यू इंडिया में गरीबी के लिए कोई गुजाइंश नही
2020 के बाद प्रमुख रेलमार्ग पर दौड़ेंगी सेमीहाईस्पीड गाडिय़ां
पालिकाओं में विजीलेंस टीम को प्रभावी बनाने की रणनीति तैयार
तिरंगा लेकर चले मतवाले मारुति के श्रमिक
वेंकैया ने देशवासियों को दी बधाई
सिंघल राष्ट्रपति पदक से सम्मानित
राज्यपाल पंचकूला और सीएम गुरुग्राम में फहराएंगे तिरंगा
मोदी ने नीतीश कुमार से ली बाढ़ की जानकारी
तावडू बना नया उप-मण्डल