हरियाणा मेल ब्यूरो
19/06/2017  :  11:35 HH:MM
पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से करारी शिकस्त दी
Total View  49

सलामी बल्लेबाज फखर जमान (114) के पहले अंतर्राष्ट्रीय शतक और मध्य क्रम के बल्लेबाजों के संयुक्त योगदान के चलते पाकिस्तान ने रविवार को द ओवल मैदान पर जारी आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल मैच में मौजूदा विजेता भारत के सामने 339 रनों का लक्ष्य रखा

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान ने निर्धारित 50 ओवरों में चार विकेट खोकर 338 रन बनाए। यह पाकिस्तान का भारत के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए अब तक का सबसे बड़ा स्कोर है। साथ ही यह चैम्पियंस ट्रॉफी में आईसीसी के पूर्ण सदस्यता वाले देश के खिलाफ बनाया गया सर्वोच्च स्कोर भी है। इससे पहले चैम्पियंस ट्रॉफी में न्यूजीलैंड ने सितम्बर, 2004 में अमेरिका के खिलाफ 347 रन बनाए थे। ओवल में रिकार्ड के लिहाज से भारत के सामने अब तक का सबसे बड़ा लक्ष्य है। इससे पहले चैम्पियंस ट्रॉफी में आठ जून को भारत ने श्रीलंक के सामने 322 रनों का लक्ष्य रखा जिसे उसने तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया था। भारत अगर इस लक्ष्य का हासिल कर लेता है तो यह इस मैदान के लिहाज से सबसे बड़ा लक्ष्य होगा। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी लेकिन उनका यह फैसला गलत साबित हुआ। भारतीय गेंदबाजों की पाकिस्तान की सलामी जोड़ी फखर और अजहर अली (59) ने जमकर धुनाई की। इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 23 ओवरों में 128 रन जोड़े। फखर एक छोर से तेजी से रन बना रहे थे तो अजहर थोड़ा धीमा खेल रहे थे। इन दोनों ने आईसीसी आयोजनों में भारत के खिलाफ पहले विकेट के लिए अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी को अंजाम दिया है। इससे पहले 1996 विश्व कप में आमिर सोहेल और सईद अनवर ने पहले विकेट के लिए  84 रन जोड़े थे। भारत का कोई भी गेंदबाज इस जोड़ी को परेशान नहीं कर पाया। यह जोड़ी अपनी गलती से टूटी। 23वें ओवर की आखिरी गेंद पर रन लेने को लेकर दोनों के बीच गलतफहमी हुई और दोनों एक ही छोर पर आ गए। जसप्रीत बुमराह की गेंद पर महेंद्र सिंह धौनी ने गिल्लियां बिखेर दीं और अजहर पवेलियन लौटे। उन्होंने 71 गेंदों में छह चौके और एक छक्का लगाया। हालांकि अजहर के जाने के फखर पर असर नहीं हुआ उन्होंने अपना आक्रामक अंदाज जारी रखा। उन्होंने लगतार बड़े शॉट खेले और रन बटोरते रहे। 31वें की पहली गेंद पर रविचंद्र अश्विन को चौका मार फखर ने अपना पहला शतक पूरा किया जिसके लिए उन्होंने 91 गेंदें ली। शतक पूरा करने के बाद फखर, हार्दिक पांड्या की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने गए और गेंद ने बल्ले का ऊपरी किनारा लिया और रवींद्र जडेजा ने पीछे भागते हुए अनका शानदार कैच लपका। उन्होंने 106 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौके और तीन छक्के लगाए। हालांकि इसके बाद बाबर आजम (46) और शोएब मलिक (12) ने टीम के स्कोर बोर्ड को लगतार चलाने का काम किया। खतरनाक दिख रहे आजम को केदार जाधव ने युवराज सिंह के हाथों कैच कराया। मलिक, भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर जाधव के हाथों लपके गए। अंत में मोहम्मद हफीज 37 गेंदों में चार चौके और तीन छक्कों की मदद से 57
रनों की नाबाद पारी खेल पाकिस्तान को बड़ा स्कोर प्रदान किया। हफीज का साथ इमाद वसीम ने अच्छे से दिया और 21 गेंदों में 25 रन बनाए और पांचवें विकेट के लिए 71 रन जोड़े। भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या और केदार जाधव ने एक-एक विकेट लिया। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7925869
 
     
Related Links :-
भारतीय जूनियर हॉकी टीम की कप्तानी करेंगे मप्र अकादमी के विवेक
जीत हासिल करने के इरादे से उतरेगी विराट सेना
कॉमन वेल्थ गोल्ड मेडलिस्ट का सोनीपत में भव्य स्वागत
रोमांचक मुकाबले में गुजरात ने पुणे को हराया
अदालत ने लगाया नेमार पर 12 लाख डॉलर का जुर्माना
रियो ओलंपिक प्रमुख जेल से छूटे
सटोरियों की पेशकश को कप्तान सरफराज ने ठुकराया
श्रीसंत ने कहा संघर्ष जारी रखेंग
दूसरे अभ्यास मैच में न्यूजीलैंड को बेहतर प्रदर्शन की उम्मीदे
सचिन बनेंगे कॉमिक हीरो