समाचार ब्यूरो
25/06/2017  :  10:36 HH:MM
जींद बनेगा भौगोलिक सूचना तंत्र स्थापित करने वाला 5वां जिला
Total View  394

गुरूग्राम, रोहतक, सिरसा तथा अबाला जैसे जिलों के बाद जियोग्राफिक इंफोरमेशन सिस्टम/ जीआईएस लैब (भौगोलिक सूचना तंत्र) स्थापित करने वाला जींद जिला प्रदेश का 5वां जिला बन जाएगा। यह लैब जिला मुख्यालय पर स्थापित की जाएगी। प्रवक्ता ने बताया कि जीआईएस लैब में जींद जिला से स बंधित सभी प्रकार की जानकारी को संकलित किया जाएगा।
ह काम चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा। प्रथम चरण में इस कार्यक्रम के तहत नगरपरिषद क्षेत्र को शामिल किया जाएगा। उन्होंने जियोग्राफिक इंफोरमेशन सिस्टम के स बंध में बताया कि लैब में जींद जिला का सभी प्रकार का डाटा संरक्षित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहर अथवा गांव की वार्ड बंदी, गांव में उपलब्ध सभी प्रकार के भू- रिकार्ड की जानकारी, विभिन्न विभागों द्वारा क्रियान्वित की जा रही कार्य योजनाओं की जानकारी, सीवरेज व्यवस्था, बिजली इन्फ्रास्ट्रक्चर से स बंधित ी जानकारी इस लैब में संकलित कर सुरक्षित रखी जाएगीं। कई बार एक विभाग की कार्य योजना दूसरे विभाग की कार्य योजना को प्रभावित कर देती है। ऐसी स्थिति में इस लैब में सभी प्रकार की जानकारी संग्रहित रहेगी और विभिन्न विभागों की योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि भूमिगत पेयजल पाईप लाईन बिछाई जाती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8913933
 
     
Related Links :-
राष्ट्रीय अध्यक्ष के विरुद्ध अनुशासनहीनता के आरोपों पर भी विचार
पराली प्रबंधन: मोबाइल वैन किए रवाना
नये साल में मिलेगा फुटओवर ब्रिज का तोहफा
केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने किया , लगभग 44 करोड़ 70 लाख की लागत से बनेगा पलवल-रसूलपुर-हसनपुर मार्ग पर रेलवे ओवर ब्रिज का शिलान्यास
सैक्टर-4 मेला ग्राउंड में होगा दशहरे का आयोजन मुख्यमंत्री करेंगे रावण दहन की रस्म अदा
प्रकाश सिंह बादल ने सुरक्षा की पेशकश को ठुकराई
हरियाणा के स्कूलों, अस्पतालों का स्टेट्स चेक करेंगे केजरीवाल
फिर से एसवाईएल के सहारे जनता की नब्ज टटोलेगी इनेल
कानून बनाकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करे सरकार
यूपी और उत्तराखंड के पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी नहीं रहे