समाचार ब्यूरो
25/06/2017  :  10:36 HH:MM
जींद बनेगा भौगोलिक सूचना तंत्र स्थापित करने वाला 5वां जिला
Total View  342

गुरूग्राम, रोहतक, सिरसा तथा अबाला जैसे जिलों के बाद जियोग्राफिक इंफोरमेशन सिस्टम/ जीआईएस लैब (भौगोलिक सूचना तंत्र) स्थापित करने वाला जींद जिला प्रदेश का 5वां जिला बन जाएगा। यह लैब जिला मुख्यालय पर स्थापित की जाएगी। प्रवक्ता ने बताया कि जीआईएस लैब में जींद जिला से स बंधित सभी प्रकार की जानकारी को संकलित किया जाएगा।
ह काम चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा। प्रथम चरण में इस कार्यक्रम के तहत नगरपरिषद क्षेत्र को शामिल किया जाएगा। उन्होंने जियोग्राफिक इंफोरमेशन सिस्टम के स बंध में बताया कि लैब में जींद जिला का सभी प्रकार का डाटा संरक्षित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहर अथवा गांव की वार्ड बंदी, गांव में उपलब्ध सभी प्रकार के भू- रिकार्ड की जानकारी, विभिन्न विभागों द्वारा क्रियान्वित की जा रही कार्य योजनाओं की जानकारी, सीवरेज व्यवस्था, बिजली इन्फ्रास्ट्रक्चर से स बंधित ी जानकारी इस लैब में संकलित कर सुरक्षित रखी जाएगीं। कई बार एक विभाग की कार्य योजना दूसरे विभाग की कार्य योजना को प्रभावित कर देती है। ऐसी स्थिति में इस लैब में सभी प्रकार की जानकारी संग्रहित रहेगी और विभिन्न विभागों की योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि भूमिगत पेयजल पाईप लाईन बिछाई जाती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3131598
 
     
Related Links :-
कॉपर ह्रश्व‍लांट के विरोध में हिंसक प्रदर्शन, 9 की मौत
राज्य की 22 हजार किलोमीटर लंबी सडक़ों को किया जाएगा गड्ढïा मुक्त
दिल्‍ली से विशाखापटनम जा रही एपी एक्‍सप्रेस में आग
डीएलएफ फेज-3 नगर निगम में होगा शामिल : राव नरबीर सिंह
३ जून से शुरू होगी स्मार्ट राशन कार्ड स्कीम : आशु
स्वच्छता की भावना को सर्वोपरि रख भारत विश्व का नेतृत्व करेगा : जैन
सीमा ने जीता 14, 9 0 9 एगेंजड कॉर्नेल अनुदान
सेकेंडरी परीक्षा का परिणाम 51.15 फीसदी
दिल्ली कमेटी ने विरोधी पक्ष पर झूठा प्रचार करने का लगाया आरोप
बिजली हालत नहीं सुधरे तो विभाग को सौंप देंगे फैक्ट्रियों की चाबी