हरियाणा मेल ब्यूरो
05/07/2017  :  12:29 HH:MM
बारिश से फसलों को नुकसान, किसानों ने मांगा मुआवजा
Total View  47

हिसार हरियाणा के हिसार जिले में भारी बारिश के कारण सैंकड़ों गावों में हजारों एकड़ भूमि में खड़ी नरमा, धान, बाजरा एवं मूंग की फसल खत्म होने के कारण किसानों ने सरकार से मुआवजे की मांग की है। सरकार और प्रशासन की अनदेखी के विरोध में किसानों ने 24 जुलाई को कमिश्नर कार्यालय का घेराव करने का फैसला किया है।

यह निर्णय अखिल भारतीय किसान सभा के जिला प्रधान मोलड़ सिंह आर्य की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में आज लिया गया। पिछले दिनों हिसार जिले में भारी बारिश के कारण हिसार, हासी, बरवाला, आदमपुर व उकलाना के सैंकड़ों गावों में खेतों में दो से तीन फुट तक पानी भर गया। इसके कारण नरमा, धान, बाजरा एवं मूंग की फसलें पूरी तरह से खत्म हो गई हैं। गांव लाडवा, सातरोड कला, सातरोड खुर्द, भगाना, नियाणा, खरकड़ी, खोखा, घिराय, सुलखनी, बुगाना, मिर्जापुर, खरड, अलीपुर आदि गावों में खेतों में आज भी तीन से चार फुट तक पानी भरा हुआ है। लाधड़ी, नगथला आदि गावों में तो पानी निकासी को लेकर किसानों में आपसी झगड़े
होने भी शुरू हो गए हैं। जिला सचिव सूबे सिंह बूरा ने कहा कि सरकार एवं प्रशासन को तुरंत प्रभाव से पूरे जिला में स्पेशल गिरदावरी करवा कर किसानों को 20 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाए। उन्होंने बताया कि बैठक में फैसला लिया गया है कि यदि सरकार एवं प्रशासन ने किसानों की उपरोक्त मांग नहीं मानी तो 24 जुलाई को किसान सभा व किसान दूसरे सभी संगठन मिल कर कमिश्नर कार्यालय का घेराव किया जायेंगा।





----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9380135
 
     
Related Links :-
मैनफ्रोटो ने देश में लॉन्च किया पहला ‘शॉप इन शॉप’
शेयर बाजार ने लगाया तेजी का पंच
लगातार दूसरे दिन उतरे सोने चांदी के भाव
केरल टूरिज्म ने पर्यटन नीति २०१७ की पेश
अरहर और उड़द का वायदा कारोबार जल्द शुरू होगा!
यूपी में बनेगा प्रगति मैदान जैसा विश्व कन्वेंशन सेंटर
आम बजट में एससी- एसटी को मेगा पैकेज देने की तैयारी
ओमकार रिएल्टर्स : दिल्ली मेंग्राहकों ने दिखाई दिलचस्पी
बड़े शहरों के विकास पर नोटबंदी व जीएसटी की मार
लगातार चौथे दिन चढ़ा बाजार