समाचार ब्यूरो
05/07/2017  :  12:29 HH:MM
बारिश से फसलों को नुकसान, किसानों ने मांगा मुआवजा
Total View  339

हिसार हरियाणा के हिसार जिले में भारी बारिश के कारण सैंकड़ों गावों में हजारों एकड़ भूमि में खड़ी नरमा, धान, बाजरा एवं मूंग की फसल खत्म होने के कारण किसानों ने सरकार से मुआवजे की मांग की है। सरकार और प्रशासन की अनदेखी के विरोध में किसानों ने 24 जुलाई को कमिश्नर कार्यालय का घेराव करने का फैसला किया है।

यह निर्णय अखिल भारतीय किसान सभा के जिला प्रधान मोलड़ सिंह आर्य की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में आज लिया गया। पिछले दिनों हिसार जिले में भारी बारिश के कारण हिसार, हासी, बरवाला, आदमपुर व उकलाना के सैंकड़ों गावों में खेतों में दो से तीन फुट तक पानी भर गया। इसके कारण नरमा, धान, बाजरा एवं मूंग की फसलें पूरी तरह से खत्म हो गई हैं। गांव लाडवा, सातरोड कला, सातरोड खुर्द, भगाना, नियाणा, खरकड़ी, खोखा, घिराय, सुलखनी, बुगाना, मिर्जापुर, खरड, अलीपुर आदि गावों में खेतों में आज भी तीन से चार फुट तक पानी भरा हुआ है। लाधड़ी, नगथला आदि गावों में तो पानी निकासी को लेकर किसानों में आपसी झगड़े
होने भी शुरू हो गए हैं। जिला सचिव सूबे सिंह बूरा ने कहा कि सरकार एवं प्रशासन को तुरंत प्रभाव से पूरे जिला में स्पेशल गिरदावरी करवा कर किसानों को 20 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाए। उन्होंने बताया कि बैठक में फैसला लिया गया है कि यदि सरकार एवं प्रशासन ने किसानों की उपरोक्त मांग नहीं मानी तो 24 जुलाई को किसान सभा व किसान दूसरे सभी संगठन मिल कर कमिश्नर कार्यालय का घेराव किया जायेंगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4362194
 
     
Related Links :-
व्यापारी वर्ग फार्म ‘सी’ के लिए तरसे
लगातार चौथे दिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ
फसल अवशेष प्रबंधन को 1100 करोड़ के पैकेज की घोषणा
रियलमी 1’ स्मार्टफोन ने मचाई हलचल, गुरुग्राम में लॉच
बढ़ती आबादी की जरूरतों को पूरा करने के लिए तीन दशक तक 1० प्रतिशत वृद्धि की जरूरत : कांत
हरियाणा में निवेश को लेकर विदेशी निवेशकों में भारी उत्साह : मुख्यमंत्री
हरियाणा में 800 करोड़ के निवेश की परियोजना पर समझौता
कैट का सरकार के 30 बिलियन डिजिटल भुगतान लक्ष्य को समर्थन
तीन दिन बाद लगा बाजार की तेजी पर ब्रेक
इजऱाइली काउंटरपाट्ïर्स के साथ भेंट बड़ा कदम