हरियाणा मेल ब्यूरो
16/07/2017  :  10:15 HH:MM
टूटेगा महागठबंधन! बिहार में सियासी संकट गहराया
Total View  50

नई दिल्ली/पटना बिहार में सियासी संकट के बीच अब सबसे बड़ा सवाल बन गया है कि नीतीश कुमार की महागठबंधन वाली सरकार से डिह्रश्वटी सीएम तेजस्वी यादव खुद इस्तीफा देंगे या नीतीश कुमार उन्हें बर्खास्त करेंगे। खबरों के मुताबिक अगर सरकार पर संकट आया तो नीतीश कुमार खुद भी पद छोड़ सकते हैं। शनिवार को भी पर्दे के पीछे तमाम सियासी कोशिशों के बावजूद इस मसले पर कोई हल नहीं हो सका है।

खबरों के मुताबिक लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार के बीच बातचीत तक बंद हो गई है। इस बीच रविवार को जेडीयू ने एक बार फिर अपने विधायकों की मीटिंग बुलाई है। हालांकि जेडीयू के अनुसार यह मीटिंग पूर्व निर्धारित थी और राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर इसे बुलाई गई है। लेकिन सूत्रों के अनुसार इस मीटिंग
में नीतीश कुमार कोई सख्त कदम उठाने से पहले अपने विधायकों से बात कर सकते हैं।

नीतीश कुमार ने अपने दल के वरिष्ठ नेताओं सहित कांग्रेस लीडरशिप को साफ कह दिया है कि तेजस्वी को जाना ही होगा। कांग्रेस अभी भी परदे के पीछे दोनों दलों के बीच सबकुछ ठीक करने की अंतिम कोशिश कर रही है। कांग्रेस के एक सीनियर नेता के अनुसार लालू प्रसाद और नीतीश कुमार के बीच आमने-सामने बात कराने की कोशिश की जा रही है। उनका दावा है कि अगर दोनों नेता एक साथ 5 मिनट भी बैठ गए तो मुद्दे का हल निकल जाएगा। दरअसल दोनों नेताओं के बीच आपस में बातचीत पिछले कुछ दिनों से बंद है। लालू-नीतीश के बीच इस तनातनी से सबसे विकट स्थिति कांग्रेस के लिए है जो तय नहीं कर पा रही है कि वह किस तरह किसके साइड से बात करे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6933627
 
     
Related Links :-
हमारा रिश्ता किसी से खराब नही
तेजस्वी के साथ राहुल ने किया लंच, राजनीतिक गलियारे में हलचल
मां की पुकार सुन पसीज गया फुटबॉलर से आतंकी बने माजिद का दिल
नवनिर्वाचित उपाध्यक्ष जोगिन्द्र महेश्वरी सम्मानित
‘अपनी जड़ों से जुड़ो ’ प्रोग्राम को हरी झंडी
बच्चों को अच्छे संस्कार देना बहुत आवश्यक : मुख्यमंत्री खट्टर
नूंह जिलावासियों को लगभग 119 करोड़ रुपए की सौगाते
आधार नामांकन का उद्देश्य सामाजिक लाभों से वंचित रखना नहीं है
पूर्व वित्त मंत्री कैह्रश्वटन अजय सिंह यादव का स्वागत
ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है