हरियाणा मेल ब्यूरो
17/07/2017  :  08:41 HH:MM
ब्रिटेन में तेजाब से होने वाले हमले संबंधी कानून की होगी समीक्षा
Total View  7

लंदन इंग्लैंड एवं वेल्स में तेजाब से हमला करने वालों की सजा को और बढ़ाने के लिए व्यापक स्तर की समीक्षा हो सकती है। यह इस तरह के हमलों की संख्या में वृद्धि को को देखते हुए किया जा सकता है। ब्रिटेन की गृह मंत्री अंबर रुड ने द संडे टाइम्स से कहा कि अपराधियों को कानून की संपूर्ण शक्ति महसूस होनी चाहिए।,

हॉउस ऑफ कॉमन्स में होगी बहस : उन्होंने कहा, ऐसा नहीं होना चाहिए कि जीवन भर की कैद तेजाब हमलों के पीडि़तों के लिए ही होकर रह जाए, सोमवार को ब्रिटेन के निचले सदन हॉउस ऑफ कॉमन्स में सांसदों को तेजाब हमलों पर बहस करनी है।इस समीक्षा में प्रचलित कानूनों, पुलिस की प्रतिक्रिया, जेल भेजे गए अपराधियों, लोगों की इन हानिकारक पदार्थो तक पहुंच कैसे हुई और तेजाब हमले के पीडि़तों को सहायता आदि को देखा जाएगा।

तेजाब से हमले भयंकर अपराध है : 

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, इंग्लैंड में तेजाब से होने वाले हमले 2012 के 504 के मुकाबले 2016-17 में दोगुने हुए हैं। इसके अलावा, पुलिस प्रमुखों की राष्ट्रीय समिति (एनपीसीसी) में बताया गया कि तेजाब या इसी तरह के रासायनिक पदार्थो से किए गए 400 से ज्यादा हमले इंग्लैंड और वेल्स में अप्रैल 2017 तक छह महीने के अंदर किए गए हैं।इन हमलों में गिरफ्तार किए गए पांच अपराधियों में से एक की उम्र 18 वर्ष से कम की थी। गुरुवार को लंदन में तेजाब से किए गए हमलों से जुड़े होने के शक में एक 16 वर्षीय किशोर को गिरफ्तार किया गया। योजनाओं की घोषणा करते हुए रुड ने द संडे टाइम्स से कहा, तेजाब से हमले भयंकर अपराध हैं, जिनका पीडि़तों पर शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है। उन्होंने कहा, यह महत्वपूर्ण है कि हम इस तरह के जघन्य हमलों को रोकने के लिए सभी जरूरी कदम उठाएं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4231873
 
     
Related Links :-
सऊदी ने कतर के तीर्थयात्रियों को हज यात्रा की अनुमति दी
इंडोनेशिया में नौका पलटी, 10 मरे
यूएई, अमेरिका ने रक्षा, आतंकवाद पर चर्चा की
चीन में तूफान को लेकर पीली चेतावनी
नाइजीरिया में ग्रामीणों और चरवाहों के बीच संघर्ष में 33 लोगों की मौत
बोले फिलिस्तीनी पीएम अल-अक्सा पर इजरायल की संप्रभुता नहीं
दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया के सामने रखा बातचीत का प्रस्ताव
पीओके निवासी ओसामा को इलाज के लिए मिलेगा वीजा
पनामा पेपर्स लीक मामले में अपने निर्णायक चरण में पहुंचा
ब्रिटेन से जब तक भव्य स्वागत की गारंटी नहीं मिलती, नहीं आऊंगा
 
http://buypropeciaonlinecheap.com/