समाचार ब्यूरो
17/07/2017  :  09:31 HH:MM
मेक इन इंडिया कार्यक्रम फुस्स : पी चिदंबरम
Total View  343

नई दिल्ली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम का कहना है कि दुनिया में भारत को विनिर्माण क्षेत्र का केंद्र बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो साल पहले जिस मेक इन इंडिया कार्यक्रम की घोषणा की थी वह पूरी तरह विफल रहा है।
श्री चिदंबरम ने कहा है कि सत्ता में आने के बाद श्री मोदी ने देश को विनिर्माण क्षेत्र का प्रमुख केंद्र बनाने की घोषणा की थी और वह सचमुच बहुत अच्छी पहल थी क्योंकि कोई भी देश तब ही समृद्ध बन सकता है जब वह अपने लोगों की आवश्यकता की जरूरी वस्तुओं का खुद निर्माण करता है, लेकिन दो साल में मोदी सरकार की मेक इन इंडिया नीति घोषणा भर ही बन कर रह गयी है। इस दौरान सार्वजनिक तथा निजी क्षेत्र का निवेश पाने के प्रयास भी बेकार साबित हुये हैं। पूर्व वित्त मंत्री ने पार्टी के मुख पत्र कांग्रेस संदेश के ताजा अंक में प्रकाशित एक लेख में कहा प्रधानमंत्री मोदी बिल्कुल सही थे जब उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार का लक्ष्य, मेक इन इंडिया कार्यक्रम को सर्वोच्च प्राथमिकता देना है। तब उन्होंने विश्व की विनिर्माण कंपनियों को आओ और भारत में बनाओ कहकर आमंत्रित किया था। कोई भी बड़ा देश समृद्ध तभी बनता है जब वह अपने लोगों के उपयोग की वस्तुओं का विनिर्माण शुरू करता है। कोई भी देश यदि अपने लोगों की आवश्यकता वाली वस्तुओं और सेवाओं का उत्पादन करने में सक्षम है वह तब ही समृद्ध हो सकता है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3876397
 
     
Related Links :-
गुजरात में पांच हजार किसानों ने मांगी इच्छा मृत्यु
किसानों के बिलों को मिला 21 पार्टियों का मिला समर्थन
अफसरों की मीटिंग बुलाना कोर्ट की तौहीन नहीं : कैह्रश्वटन
केंद्र की तर्ज पर खट्टर बनाएंगे राज्य परिषद
ईस्टर्न पेरिफरल एक्सप्रेस पर ट्रैफिक इंटरचेंज का होगा निर्माण
निर्भया कोष का इस्तेमाल ठीक से न हो तो कोई फायदा नहीं होगा : सुप्रीम कोर्ट
पंजाब में गठबंधन पर केंद्रीय नेतृत्व निर्णय करेगा : अमरिंदर
नीतीश मेरे परिवार की हत्या कराना चाहते हैं : राबड़ी
हरियाणा में सकारात्मक परिणाम आने लगे हैं : विपुल गोयल
कांगे्रसी नेताओं का बिगड़ रहा है मानसिक संतुलन : शर्मा