हरियाणा मेल ब्यूरो
20/09/2017  :  10:03 HH:MM
रोहिंग्या संकट पर आंख मूंद कर बैठी हैं सू ची : एमनेस्टी इंटरनैशनल
Total View  38

बैंकॉक। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने म्यामांर की नेता के टेलिविजन पर दिए भाषण में सेना के कथित अत्याचारों की निंदा न करने की आलोचना करते हुए कहा कि आंग सान सू ची और उनकी सरकार ने रखाइन प्रांत में हिंसा पर आंखें मूंद रखी हैं।
संयुक्त राष्ट्र, मानवाधिकार समूहों और बांग्लादेश भागकर जाने वाले रोहिंग्या शरणार्थियों ने म्यामांर की सेना पर मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ जातीय सफाए का अभियान छेडऩे के लिए गोलियों और आगजनी का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। सू ची ने मंगलवार को अपने भाषण में हिंसा से पीडि़ता सभी लोगों की परेशानियों के लिए संवेदना जताई लेकिन जातीय सफाए के आरोपों पर कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि जो भी मानवाधिकार उल्लंघनों का दोषी पाया जाएगा उसे सजा दी जाएगी। एमनेस्टी ने कहा, आंग सान सू ची ने आज दिखाया कि वह और उनकी सरकार रखाइन प्रांत में हुई भयानक घटनाओं पर अब भी आंख मूंदे हुए हैं। उनके भाषण में झूठ और पीडि़तों को जिम्मेदार ठहराने की मिली जुली बातें थीं। मानवाधिकार समूह ने सुरक्षा बलों की भूमिका के बारे में चुप रहने पर सू ची पर निशाना साधा। एमनेस्टी ने कहा, आंग सान सू ची का यह दावा खोखला है कि उनकी सरकार अंतरराष्ट्रीय समुदाय की जांच से नहीं डरती। अगर म्यामांर के पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है तो उसे संयुक्त राष्ट्र के जांचकर्ताओं को रखाइन प्रांत समेत देश में आने की अनुमति तत्काल देनी चाहिए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8415760
 
     
Related Links :-
अमेरिकी विशेषज्ञ ने ओबीओआर के खिलाफ खड़े होने पर मोदी की तारीफ
अमेरिका को भारत में निवेश जारी रखना चाहिए : श्राइवर
मसूद पर प्रस्ताव ब्लॉक करने में कोई अंतर्विरोध नहीं : चीन
जापान और अमेरिका में नौसैन्य अभ्यास शुरू
नेपाल ने चीनी कंपनी के साथ हाइड्रो प्रोजेक्ट डील की रद्द
रूस का दावा आईएस की मदद कर रहा है अमेरिका
सैन्य सहयोग का फैसला अभूतपूर्व
इराक-ईरान सीमा पर, मौत का तांडव
पीएम मोदी ने की ट्रंप से मुलाकात
रूस से लडऩे साइबर हथियार क्षमता बढ़ाएगा नाटो