समाचार ब्यूरो
21/09/2017  :  10:25 HH:MM
किसानों के हितों को लेकर घासीराम ने किया लंबा संघर्ष
Total View  394

जींद नरवाना के गांव लोहचब निवासी घासीराम नैन ने पिछले चार दशकों में किसानों के हितों को लेकर अलग अलग सरकारों के खिलाफ कई बड़े आंदोलन किए और अनेक बार भूख हड़ताल पर बैठे। किसानों की मांगों को लेकर किए जाने वाले संघर्ष में वह 20 बार जेल गए। 2002 में कंडेला कांड के दौरान वह 19 माह जेल में रहे।
उन्होंने करीब चार वर्ष राजद्रोह का गंभीर मामला भुगता। 2005 में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने पर राजद्रोह के मामले से छुटकारा मिला। लंबे समय तक किसानों के हितों को लेकर लंबा संघर्ष करने वाले घासीराम ने किसानों का खूब समर्थन मिला। वह नकली बीज और दवाईयां बेचने वाले दुकानदारों के बड़े खिलाफ थे। उन्होंने अनेक बार नकली सामान बेचने वाले लोगों के खिलाफ कड़े कानून बनाने की मांग की। 1975 में गेहूं का समर्थन मूल्य बढाने को लेकर आंदोलन किया। 1980 में भारतीय किसान यूनियन हरियाणा का गठन किया गया उस समय मांगेराम मलिक अध्यक्ष बने। कुछ समय के बाद उन्हें यूनियन का प्रदेशाध्यक्ष बना दिया। घासीराम नैन ने किसानों द्वारा निसिंग,कंडेला और मंडियाली में चलाए किसान आंदोलनों का समर्थन किया और किसानों पर हो रही ज्यादती को लेकर अपनी आवाज बुलंद की। जब भी किसानों ने पुकारा वह किसानों के हक में खड़े हुए। भजनलालए,बंसीलाल और ओमप्रकाश चौटाला की सरकारों में घासीराम नैन ने जेल काटी। उन्होंने हरियाणा के किसानों के साथ साथ पंजाब, यूपी, दिल्ली और राजस्थान में जाकर किसानों के हितों को लेकर आंदोलन किए जिसको लेकर कई बाद जेल गए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6104608
 
     
Related Links :-
राष्ट्रीय अध्यक्ष के विरुद्ध अनुशासनहीनता के आरोपों पर भी विचार
पराली प्रबंधन: मोबाइल वैन किए रवाना
नये साल में मिलेगा फुटओवर ब्रिज का तोहफा
केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने किया , लगभग 44 करोड़ 70 लाख की लागत से बनेगा पलवल-रसूलपुर-हसनपुर मार्ग पर रेलवे ओवर ब्रिज का शिलान्यास
सैक्टर-4 मेला ग्राउंड में होगा दशहरे का आयोजन मुख्यमंत्री करेंगे रावण दहन की रस्म अदा
प्रकाश सिंह बादल ने सुरक्षा की पेशकश को ठुकराई
हरियाणा के स्कूलों, अस्पतालों का स्टेट्स चेक करेंगे केजरीवाल
फिर से एसवाईएल के सहारे जनता की नब्ज टटोलेगी इनेल
कानून बनाकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करे सरकार
यूपी और उत्तराखंड के पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी नहीं रहे