समाचार ब्यूरो
22/09/2017  :  10:02 HH:MM
दो लोगों को जीवन दे गई ग्यारह साल की तमरीन
Total View  342

चंडीगढ़ 11 साल की बेटी तमरीन का ब्रेन डेड होने के बाद उसके पेरेंट्स मानवता के नाम पर एक अहम फैसला लेते हुए उसके ऑर्गन डोनेट करने का फैसला लिया। इसके बाद पीजीआई ने इस बच्ची की दोनों किडनी जरूरतमंद मरीजों को ट्रांसह्रश्वलांट कर दी। तमरीन के पिता के मुताबिक, मंगलवार की शाम पीजीआई के डॉक्टरों ने उनकी बच्ची का ब्रेन डेड होने की बात उन्हें बताई।

उन्होंने सोचा बेटी के जाने के बाद उसके अंग किसी के काम आ जाएं तो बच्ची के प्रति उनकी यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इसके बाद उन्होंने डॉक्टरों के समक्ष अपनी इच्च्छा जताई। डॉक्टरों पेरेंट्स की कंसेंट के बाद तुरंत फैसला लिया।  17 सितंबर को तमरीन के पिता यूसुफ शाह के लिए काला दिन साबित हुआ। तमरीन यूपी के अकोला से चंडीगढ़ के लिए अपनी रिश्तेदारों के साथ खुशी- खुशी सफर कर यहां पहुंची थी। वह बस उतरी तो पीछे से आ रही मिनी बस ने उसे हिट कर दिया। उसे गंभीर अवस्था में पीजीआई लाया गया। यहां उसे लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया। उपचार के दौरान गत मंगलवार को उसका ब्रेन डेड हो गया। इस पर डाक्टरों ने तमरीन के पेरेंट्स के उसके ऑर्गन डोनेट का प्रस्ताव रखा। जिस पर उन्होंने विचार के बाद अपने दिल के टुकड़े के ऑर्गन डोनेट करने की हामी भर दी। तमरीन के पिता ने कहा, यह सबसे कठिन निर्णय था, लेकिन मुझे लगा जैसे हमें कुछ करना चाहिए और मैं वास्तव में ऐसा महसूस कर रहा था कि यह तमरीन
कह रही थी कि पापा ऐसा ही करो। रोटो पीजीआई के नोडल ऑफिसर ने बताया कि तमरीन की दोनों किडनियां डायबिटीज के चलते अपनी किडनियां गवां चुके दो लोगों से मैच हो गईं। जिन्हें 12 घंटे के भीतर पीजीआई में ट्रांसह्रश्वलांट कर दिया गया। लेकिन उसका लीवर और हार्ट यहां पर किसी से मैच नहीं हो सके। उन्होंने बताया कि देश अन्य चिकित्सा संस्थानों से लीवर और हार्ट मैच कराने के लिए संपर्क किया गया, लेकिन वहां भी कोई मैच नहीं मिला। उन्होंने बताया कि हार्ट ट्रांसह्रश्वलांट 4 घंटे और लीवर ट्रांसह्रश्वलांट के लिए 6 घंटे के भीतर हो सकता है। इस दौरान कोई डोनर को मैच नहीं मिलता तो यह संभव नहीं हो पाता।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7591658
 
     
Related Links :-
पालम विहार पुलिस थाने के पास हटाई गई 20 झुग्गिया
गरीब बच्चों को विद्यालयों में दाखिला देना अनिवार्य : विनय प्रताप
गुरुग्राम जिले को शैक्षणिक रूप से सक्षम जिला करने की पहल
अध्यापकों को चाय पर बुलाकर बढ़ाया मनोबल
भीषण गर्मी से राहत कार्यों के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम
जैसमीन कौर का सम्मान तोहफे के तौर पर लैपटॉप मिला
फ्रांस से वापिस आये बाबा रणजीत सिंह का दिल्ली कमेटी ने किया सम्मान
पंजाब में तपिश और लू की वजह से पारा पहुंचा 45 के करीब
सफाई कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त
मिशन 2019 : भाजपा चुनावी तैयारी में जी-जान से जुटी