समाचार ब्यूरो
22/09/2017  :  10:33 HH:MM
कहीं पंचकूला न बन जाए पटियाला : हाईकोर्ट
Total View  342

चंडीगढ़ पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने पटियाला में मुख्यमंत्री के महल के पास किसानों के प्रदर्शन को लेकर कानून-व्यवस्था सुनिश्चत करने को कहा है। हाईकोर्ट ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि वहां पंचकूला जैसी स्थिति न बने।

इसके लिए कड़े कदम उठाए जाएं। दूसरी ओर,पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट को बताया कि वह पटियाला में किसानों को शहर से पांच किलोमीटर दूर एक जगह प्रदर्शन और धरने की अनुमति देने के लिए तैयार है। हाईकोर्ट में इस मामले पर आज सुनवाई हुई। पंजाब सरकार और किसान यूनियन की तरफ हाईकोर्ट में अपने-अपने पक्ष रखे गए।

शहर से बाहर दी जा सकती है धरना की अनुमति

पंजाब सरकार की ओर से कहा गया कि वह किसानों को पटियाला शहर से बाहर पांच किलोमीटर की दूरी पर शांतिपूर्ण धरना और प्रदर्शन की अनुमति दी जा सकती है। इसके लिए उनको जिला उपायुक्त से अनुमति लेनी पड़ेगी। दूसरी ओर, किसान यूनियन के वकील ने कहा कि वह इस बात की गारंटी लेते हैं कि पटियाला शहर में किसी भी तरह की हिंसा नहीं होने दी जाएगी। हाईकोर्ट ने उनका पक्ष रिकॉर्ड करते हैं मामले की सुनवाई सोमवार तक स्थगित कर दी। बता दें कि कर्ज माफी को लेकर किसान संगठनों के मुख्यमंत्री आवास के घेराव की ऐलान किया है। ऐसे में बड़ी सं या में किसानों का जमा होना कानून-व्यवस्था के लिए खतरा बन
सकता है। इस संबंध में बुधवार को हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर कानूनव्यवस्था का पालन सुनिश्चित करने की अपील की गई। याचिका पर हाईकोर्ट ने केंद्र, पंजाब, सहित किसान नेताओं को नोटिस जारी कर जवाब मांगा। पटियाला निवासी मोहित कपूर के एडवोकेट रणजीत सिंह सैनी ने हाई कोर्ट में कहा कि पंजाब में किसानों ने कर्ज माफी को लेकर मुख्यमंत्री के पटियाला आवास के घेराव का आह्वान किया है। लाखों की सं या में किसान पटियाला पहुंच रहे हैं, जो शहर की कानून-व्यवस्था के लिए खतरा बन सकते हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1241027
 
     
Related Links :-
बी.एस.एफ. ने मनाया चौथा ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’
यूपी में टी-शर्ट पहनकर सीएम योगी ने किया योग, राजनाथ भी रहे मौजूद
योग का प्राचीन विज्ञान भारत का आधुनिक विश्व को अमूल्य उपहार : उपराष्ट्रपति नायडू
योग हमारी प्राचीन जीवन पद्धति है : रमन मलिक
कबीर जयंती 28 को सरकारी तौर पर उत्सव की तरह मनायी जाएगी
मंत्री और आला अधिकारी बताएंगे विभागों की उपलब्धिया
फिर से विश्व गुरू बनने की राह पर है भारत : कविता जैन
बांध सुरक्षा विधेयक के प्रस्ताव को मोदी कैबिनेट से स्वीकृति
कांग्रेस ने की केंद्र सरकार की घेराबंदी
आईटीआई प्रशिक्षण पास आऊट युवाओं से आह्वïान