हरियाणा मेल ब्यूरो
22/09/2017  :  10:41 HH:MM
बांग्लादेश ने भी माना, साझा दुश्मन हैं रोहिंग्या जिहादी
Total View  37

कोलकाता लश्कर-ए-तैयबा समर्थित अराकन रोहिंग्या सैल्वेशन आर्मी जैसे जिहादी संगठनों को बांग्लादेश ने भी खतरा मान लिया है। बांग्लादेश ने कहा है कि इस तरह के रोहिंग्या जिहादी संगठन उसके व भारत और म्यांमार के लिए साझा दुश्मन हैं।

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना के राजनीतिक सलाहकार तौफीक इमाम ने रोहिंग्या मुद्दे को लेकर पाकिस्तान पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। तौफीक इमाम ने कहा है कि खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान की आईएसआई रोहिंग्या मुद्दे का इस्तेमाल म्यांमार के साथ लगी सीमा पर सांप्रदायिक तनाव फैलाने के लिए लिए कर रही है। इमाम ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ बांग्लादेश की नीति जीरो टॉलरेंस वाली है।

दूसरे जिहादी संगठनों के साथ भी ऐसा ही करेंगे : सरकार

बांग्लादेश से ऑपरेट होने वाले भारत के नॉर्थ ईस्ट के सभी अतिवादी संगठनों को शेख हसीना की पिछली सरकार के दौरान खत्म कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि हम और दूसरे जिहादी संगठनों के साथ भी ऐसा ही करेंगे। इमाम के मुताबिक उनका कनेक्शन बांग्लादेश में सक्रिय प्रमुख इस्लामिक आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा से भी है । इमाम ने एक इंटरव्यू में बताया, पाकिस्तान की आईएसआई 1969 से ही रोहिंग्या अलगाववाद का समर्थन कर रही है। तब मैं अविभाजित पाकिस्तान में सिविल सर्वेंट था और चिटगान्ग में अपनी सेवा दे रहा था। इमाम के मुताबिक आईएसआई एक बार फिर इसी रणनीति
को अपनाकर साउथ और साउथ ईस्ट एशिया के रणनीतिक तौर पर अहम हिस्से में जिहाद की जमीन तैयार कर रही है। इमाम ने कहा कि इसी बहाने हसीना सरकार को अस्थिर करने की भी साजिश की जा रही है। इमाम ने कहा कि बांग्लादेशी खुफिया एजेंसियों की सूचनाओं के मुताबिक आईएसआई दुर्गा पूजा के दौरान सांप्रदायिक तनाव फैलाने के लिए रोहिंग्या का इस्तेमाल कर सकती है। उन्होंने बताया कि बांग्लादेश ने म्यांमार को रोहिंग्या जिहादियों के खिलाफ साझा मिलिटरी अभियान की भी पेशकश कर रखी है। शेख हसीना के राजनीतिक सलाहकार इमाम ने कहा कि रोहिंग्या समस्या हमारे, भारत और म्यांमार, तीनों के लिए सुरक्षा से जुड़ी समस्या है। उन्होंने आगे कहा कि सबसे अहम बात यह है कि यह एक मानवीय समस्या है। यही वजह है कि बांग्लादेश ने रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए अपने दरवाजे खोले हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3341376
 
     
Related Links :-
अमेरिकी विशेषज्ञ ने ओबीओआर के खिलाफ खड़े होने पर मोदी की तारीफ
अमेरिका को भारत में निवेश जारी रखना चाहिए : श्राइवर
मसूद पर प्रस्ताव ब्लॉक करने में कोई अंतर्विरोध नहीं : चीन
जापान और अमेरिका में नौसैन्य अभ्यास शुरू
नेपाल ने चीनी कंपनी के साथ हाइड्रो प्रोजेक्ट डील की रद्द
रूस का दावा आईएस की मदद कर रहा है अमेरिका
सैन्य सहयोग का फैसला अभूतपूर्व
इराक-ईरान सीमा पर, मौत का तांडव
पीएम मोदी ने की ट्रंप से मुलाकात
रूस से लडऩे साइबर हथियार क्षमता बढ़ाएगा नाटो