Breaking News
लघू सचिवालय के सभागार में डिजीटल हरियाणा कार्यशाला  |  बच्चों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं, सभी मामलों पर कड़ा संज्ञान लिया : जस्टिस मित्तल  |  अनाधिकृत निर्माणों, अतिक्रमण और विज्ञापनों के खिलाफ निगम की कार्रवाई जारी  |  जीवन में भी धार्मिक परंपराओं का विशेष महत्व : उमेश अग्रवाल  |  डिजीटल हरियाणा कार्यशाला का होगा आयोजन हरपथ ऐप पर प्राप्त शिकायतों के निपटारे के लिए अधिकारियों को मिलेगा प्रशिक्षण  |  रोटरी दिवस पर क्लब ने लगाया रक्तदान शिविर  |  बच्चों को प्रेरणा व जागरूक करने के लिए सेमिनार  |  बेहतर भविष्य के लिए सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करना होगा: जस्टिस मित्तल  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
23/09/2017  :  10:45 HH:MM
खलनायकी को नया आयाम दिया प्रेम चोपड़ा ने
Total View  377

बॉलीवुड में प्रेम चोपड़ा का नाम एक ऐसे अभिनेता के तौर पर लिया जाता है जिन्होंने खलनायकी को नया आयाम देकर दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी।प्रेम चोपड़ा का जन्म 23 सितंबर 1935 को लाहौर में हुआ था। वह अपने छह भाई बहनों में तीसरे नंबर पर थे।

भारत विभाजन के बाद उनका परिवार शिमला आ गया और उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा वहीं से पूरी की। इसके बाद उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय से स्नातक की शिक्षा पूरी की। इस दौरान वह अपने कॉलेज में अभिनय भी किया करते थे। स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्रेम चोपड़ा ने निश्चय किया कि वह अभिनेता के
रूप फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनायेंगे।हालांकि उनके पिता चाहते थे वह डॉक्टर बने लेकिन उन्होंने अपने पिता से साफ शब्दों में कह दिया कि वह अभिनेता बनना चाहते हैं।अपने सपने को साकार करने के लिये वह पचास के दशक के अंतिम वर्षो में मुंबई आ गये। मुंबई आने के बाद प्रेम चोपड़ा को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। जीवन यापन के लिये वह टाइम्स ऑफ इंडिया के सर्कुलेशन विभाग में काम करने लगे।इस दौरान वह फिल्मों में काम करने के लिये संघर्षरत रहे।इस बीच उन्हें एक पंजाबी फिल्म ‘चौधरी करनैल सिंह’ में काम करने का अवसर मिला। वर्ष 1960 में प्रदर्शित यह फिल्म टिकट खिडक़ी पर सुपरहिट हुयी और वह दर्शको के बीच अपनी पहचान बनाने में कुछ हद तक कामयाब हो गए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   821523
 
     
Related Links :-
नेहा का बिकिनी पहनने से इंकार
लवरात्रि नहीं बल्कि अब आप देखेंगे ‘लवयात्री’
इन सर्च ऑफ गंगा में बहन की तलाश कर रहा है
किसानों की दशा की वास्तविकता बयान करती है खुदकुशी आंदी फसल : अक्षय शर्मा
सिखों ने मनमर्जीया के खिलाफ दिल्ली में 5 स्थानों पर रोष प्रदर्शन किया
इंडियन आइडल 10 पर नेहा कक्कड़ क्यों रोई?
गेम ऑफ थ्रोन्स के खाते में गया बेस्ट ड्रामा सीरीज अवॉर्ड
स्त्री को नहीं पछाड़ पाई मनमर्जिया
जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ नाटक किया गया मंचन
कुमार बंधुओं ने भजनों से बहायी भक्ति संगीत की सरिता