समाचार ब्यूरो
27/09/2017  :  10:38 HH:MM
तिगांव में डिलीवरी के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत पर गुस्साए विधायक
Total View  356

फरीदाबाद तिगांव के सीएचसी केंद्र में डॉक्टरों की अनुपस्थिति के चलते डिलीवरी के दौरान एक गर्भवती महिला व उसके नवजात ब‘चे की दर्दनाक मौत हो गई। डिलीवरी के लिए आई महिला को सीएचसी केंद्र में कोई डाक्टर उपलब्ध नहीं हुआ, जिसके चलते वहां मौजूद दो नर्सो एवं एक युवक ने महिला की जबरन डिलीवरी का प्रयास किया, जिससे ज‘चा-ब‘चा की मौत हो गई।

महिला की मौत की जानकारी जैसे ही आला अधिकारियों को मिली तो उन्होंने मृतका के पति से मिलकर मामले को रफा-दफा करने का प्रयास किया परंतु तिगांव क्षेत्र के कांगे्रसी विधायक ललित नागर के हस्तक्षेप के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और जिले के स्वास्थ्य विभाग में हडक़ प मच गया। श्री नागर स्वयं बादशाह अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने मु य चिकित्सा अधिकारी को जमकर लताड़ते हुए कहा कि अगर वह तिगांव के सीएचसी में पार्किंग में जन्मे ब‘चे के मामले को गंभीरता से ले लेते तो आज यह घटना नहीं होती परंतु सीएचसी केंद्र के स्टाफ की लापरवाही से ज‘चा-ब‘चा की मौत हो गई। उन्होंने इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच
करवाने एवं दोषी डाक्टरों के खिलाफ कार्यवाही करने और पीडि़त के परिजनों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग की। प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर कलां निवासी श्रवण कौर पत्नी गुरदयाल को आज सुबह प्रसव पीड़ा होने के चलते सुबह 9.&0 बजे तिगांव स्थित सीएचसी केंद्र में लाया गया, उस दौरान वहां कोई महिला डाक्टर मौजूद नहीं थी बल्कि दो नर्स एवं एक वार्ड ब्याव थे, जिन्होनें डाक्टर को बुलाने की बजाए स्वयं महिला की डिलीवरी करनी शुरु कर दी। देखते ही देखते महिला दर्द से कराहती रही और कुछ ही देर में जच्चा और ब‘चा की मौत हो गई। मामले को छुपाने के लिए स्टाफ के सदस्यों ने गुरदयाल से कपड़े लाने को कहा।
कुछ देर बाद जब महिला श्रवण कौर के परिजनों को उसकी मौत की सूचना मिली तो उन्होंने हंगामा करना शुरु कर दिया, इस पर स्टाफ में खलबली मच गई और उन्होंने इस मामले की जानकारी आला चिकित्सा अधिकारियों को दी और मृतक महिला के शव को बादशाह खान अस्पताल भेज दिया। मामले की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय विधायक ललित नागर भी अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने मृतक महिला के परिजनों से पूरे मामले की जानकारी ली और सीएमओ को मौके पर बुलाकर इस लापरवाही के लिए जमकर लताड़ते हुए कहा कि दो माह पूर्व भी इसी सीएचसी एक महिला की डिलीवरी गेट पर ही हुई थी, जिसको लेकर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को  री
स्थिति से अवगत करवाया था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   767474
 
     
Related Links :-
गुरुग्राम में अतिक्रमण खिलाफ कार्रवाई अवैध, टावर सील
जाट धर्मशाला की चौधरी की लड़ाई में दो गुट आमने-सामने
गैंगस्टर दिलप्रीत बाबा का साथी गिरफ्तार, पुलिस मुठभेड़ में हुआ घायल
आरटीआई पर गलत सूचना देना पड़ा महंगा स्वास्थ्य विभाग के दो अधिकारी सस्पेंड
ब्लाईड मर्डर की गुत्थी सुलझाते हुए आरोपी को किया काबु
पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप, दिया ज्ञापन
हरियाणा में किसान 16 लाख, ई-नेम पर पंजीकरण 21 लाख: चौटाला
देवरिया शेल्टर होम कांड पर लोकसभा में हंगामा
लेजर वैली पार्क के आसपास अतिक्रमण के स्थायी समाधान की मांग
मुकद्दमें की ठीक ढंग से पैरवी न करने पर मुरथल एसएचओ को सस्पेंड करने के आदेश