समाचार ब्यूरो
27/09/2017  :  10:49 HH:MM
मुख्यमंत्री करेंगे करनाल में खेल महाकुंभ का उदघाटन
Total View  436

चंडीगढ़त्नहरियाणा के इतिहास में होने जा रहे अब तक के सबसे बड़े खेल महाकुंभ-2017 के लिए 5.5 लाख खिलाडिय़ों ने स्वयं का पंजीकरण करवाया है। प्रदेश के स्वर्ण जयंती समारोहों के भाग के रूप में मुख्यमंत्री मनोहर लाल 27 सितम्बर, 2017 को सायं 4.00 बजे कर्ण स्टेडियम, करनाल में इस खेल महाकुंभ का उदघाटन करेंगे।

खेल एवं युवा मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ0 के.के. खण्डेलवाल ने आज यहां खेल महाकुंभ के सम्बंध में आयोजित एक प्रैस सम्मेलन को सम्बोंधित करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उदघाटन समारोह में लगभग 10,000 खिलाड़ी मार्च पास्ट में भाग लेंगे। इस समारोह की अध्यक्षता खेल एवं युवा मामले मंत्री, श्री अनिल विज द्वारा की जाएगी। उदघाटन समारोह के बाद सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेल महाकुंभ समारोह का समापन 31 अक्तूबर, 2017 को महावीर स्टेडियम, हिसार में होगा और यह स्वर्ण जयंती समारोहों का अंतिम समारोह भी होगा। डॉ0 खण्डेलवाल ने कहा कि खेल महाकुंभ को जिला स्तरीय और राज्य स्तरीय दो चरणों में बांटा गया है। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के खिलाडिय़ों के हितों को ध्यान में रखते हुए जिला और राज्य स्तरीय दोनों चरणों में सर्कल कब्ड्डी और टग ऑफ वॉर को भी शामिल किया गया है। खेल प्रतिस्पर्धाओं में साईक्लिंग को भी शामिल किया गया है। जिला स्तरीय चरण 27 सितम्बर से आरम्भ होकर 3 अक्तूबर, 2017 तक चलेगा, जिसमें 23 खेलों को आयोजन किया जाएगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3823000
 
     
Related Links :-
लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती
बुमराह को ऑस्ट्रेलियाई वनडे और कीवी दौरे से विश्राम
ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने पर इमरान ने भारतीय टीम को दी बधाई
स्वच्छ, हरित ऊर्जा’ पर लेखन प्रतियोगिता
ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने वाला भारत दुनिया का 5वां देश
इंटर कॉलेज बॉक्सिंग पुरुष प्रतियोगिता में आर्य कॉलेज ने जीता गोल्ड
अनिल विज ने टवीट् कर दी मनु भाकर को नसीहत
ब्लाईन्ड स्कूल की छात्रा सोनिया को जीत पर 21 हजार रुपए
अलविदा २०१८ खेलों में हमारे प्रदेश के खिलाडिय़ों की रही धमक पदक दिलाने में चैंपियन रहा हरियाणा
27 घंटे लगातार बॉलिंग करना अजूबे से कम नहीं : तायल