समाचार ब्यूरो
13/10/2017  :  09:53 HH:MM
करनाल, सोनीपत और अंबाला में बदलेगी सीवरेज की बदहाल सूरत
Total View  414

चंडीगढ़ दीवाली से ठीक पहले हरियाणा के तीन शहरों में गंदे पानी की समुचित निकासी और सीवरेज प्रबंधन प्रणाली में और अधिक सुधार लाने से लाखों नागरिकों को लाभ पहुंचेगा।

अमु्रत योजना के तहत शहरी स्थानीय निकाय विभाग 436 करोड़ रुपये की लागत से करनाल, सोनीपत और अंबाला में सीवरेज प्रबंधन को दुरुस्त करेगा और इसके लिए ठेकेदार एजेंसी का चयन हो गया है। हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में शहरों
में लोगों को सुविधाएं प्रदान करने के लिए बुनियादी ढांचे को मजबूत किया जा रहा है, जिसके लिए उन्होंने कायाकल्प एवं शहरी रूपांतरण के लिए अटल मिशन शुरू किया है। अब यही योजना हरियाणा के शहरी इलाकों में ढांचागत विकास को व्यवस्थित कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। करनाल में 178 करोड़ की राशि खर्च उन्होंने बताया कि करनाल, सोनीपत और अंबाला में अमु्रत योजना के माध्यम से 436 करोड़ रुपये की राशि खर्च कर सीवरेज प्रबंधन को सुधारने के लिए ठेका एजेंसी को अलाट कर दिया गया है। करनाल में सीवरेज प्रबंधन पर 178 करोड़ रुपये की राशि खर्च करके व्यवस्था को बेहतर बनाया जाएगा। इस राशि से दो साल की समय अवधि में 180 किलोमीटर लंबी सीवरेज लाइन बिछाई जाएगी, जिसमें साढे दस हजार मेनहोल बनाए जाएंगे, जबकि 9216 घरों के सीवरेज कनैक्शन किए जाएंगे। इसी प्रकार, अंबाला में 144 करोड़ रुपये की राशि खर्च करते हुए 150 किलोमीटर लंबी सीवरेज लाइन का ढांचागत विकास किया जाएगा, इसमें 8 हजार 875 मेनहाल बनाए जाएंगे और 10 हजार 879 घरों को सीवरेज कनेक्शन दिए जाएंगे। श्रीमती जैन ने बताया कि सोनीपत में गंदे पानी की निकासी के लिए लाइन बदलने, बढ़ती शहरी आबादी के मुताबिक नई लाइन बिछाने और इसके सुचारू तौर पर संचालन के लिए 114 करोड़ रुपये का ठेका दिया गया है। उन्होंने कहा
कि सोनीपत में 200 से 300 एम क्षमता की 154 किलोमीटर सीवर लाइन तथा 400 एमएम से 1800 एमएम क्षमता की 22.5 किलोमीटर लाइन बदली जाएगी। उन्होंने बताया कि शहर में नागरिकों की जरूरत के अनुरूप इन लाइनों पर 10 हजार के करीब मेनहाल बनाए जाएंगे, जबकि 12 हजार सीवर कनेक्शन दिए जाएंगे। सीवरेज लाइन बदलने के काम के लिए डेढ साल की समय सीमा निर्धारित की गई है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4405902
 
     
Related Links :-
बदइंतजामी और लापरवाही का दर्दनाक परिणाम है अमृतसर की घटना : गोयल
प्रजा को संतुष्ट रखने के लिए उन्होंने मां सीता को अग्नि परीक्षा देने के लिए कहा श्री राम के लिए परिवार से बड़ा राजधर्म : अलका गौरी
महिलाओं का उत्पीडऩ करने वाले रावण रूपी राक्षसों का अन्त जरूरी : रविन्द्र जैन
रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में कटोरा लेकर निकलेंगे नवीन जयहिंद
नवजोत सिद्धू के बचाव में आए पूर्व रेल मंत्री बंसल
जलनिकासी के कार्य की समीक्षा बैठक में बोले कृषि मंत्री जलभराव की समस्या से निपटने के लिए तेजी लाएं : धनखड
एसएफआई जिला कमेटी ने काली पट्टी बांध कर जताया रोष
रेल दुर्घटना को लेकर स्‍थानीय लोगों में रोष
राजनीति के भेंट चढ़े सुलगते सवाल
पूर्णाहूति के साथ सम्पन्न हुआ रामकथा महोत्सव