समाचार ब्यूरो
17/10/2017  :  09:19 HH:MM
४५-४७ करोड़ अतिरिक्त राजस्व की उम्मीद
Total View  331

चंडीगढ़ पंजाब के मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिंदर सिंह का नेतृत्व में मंत्रिमंडल ने आज शहरी और ग्रामीण स्थानिक इकाईयां को डी.टी.एच. और स्थानीय केबल कुनैक्शनों पर मनोरंजन कर लगाने की स्वीकृति दे दी है।

‘द पंजाब इंटरटैनमैंट एंड एमूज़मैंट टैक्सिज एक्ट -2017 के कानूनी रूप अपनाने के साथ यह स्थानीय इकाइयोंँ डी.टी.एच. कनैक्शन पर पाँच रुपए और स्थानीय केबल कनैक्शन पर दो रुपए का मामूली मनोरंजन कर लगाने पर एकत्रित करने के योग्य हो जाएंगी। यह एक्ट नये जीएसटी के अधीन पहली मनोरंजन कर प्रणाली व्यवस्था की जगह लेगा। सरकार द्वारा से विधान सभा के आगामी सत्र में नया कानून लाने का प्रस्ताव है। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्रीमंडल की मीटिंग दौरान बताया कि मामूली टैक्स केबल ऑपरेटरों की जबाबदेही को यकीनी बनाएगी। नया टैक्स ढांचा अमल में आने साथ सरकार केबल ऑपरेटरों को अपने कुनैक्शनों का खुलासा करने के लिए कह सकने के योग्य हो जायेगी जोकि अब तक केबल ऑपरेटर टैक्स से बचने के लिए इसको छिपाते रहे हैं। यह फ़ैसला स्थानीय निकाय विभाग द्वारा सभी शहरी इकाइयों और ग्राम पंचायतों को यह टैक्स एकत्रित करने के लिए इजाज़त देने संबंधी रखे प्रस्ताव़ के संदर्भ में लिया गया।
हालाँकि सिनेमों, मल्टीपलैक्सों, ऐमयूज़मैंट पार्कों और अन्य ऐसीं मनोरंजक स्थानों पर कोई मनोरंजन कर लाने का प्रस्ताव नहीं है। राज्य में लगभग 16 लाख डी.टी.एच. कनैक्शन और 44 लाख केबल कनैक्शन हैं। स्थानीय इकाइयों को टैक्स लगाने से वार्षिक 45 -47 करोड़ रुपए आय की उम्मीद है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1974924
 
     
Related Links :-
उतार-चढ़ाव के बाद सपाट रहा बाजार
एसबीआई और पीएनबी बेच रहे 1,063 करोड़ के एनपीए
वैवाहिक मांग आने से सोने- चांदी की कीमतों में तेजी
किसानों की हालत सुधारने के लिए सरकार लगा रही ऐड़ी चोटी का जोर
चीन पर 100 बिलियन डॉलर का लगेगा अतिरिक्त शुल्क : ट्रम्प
कमजोर मांग से उतरे सोने-चांदी के भाव
उतार-चढ़ाव के बाद सपाट रहा बाजार
शहरवासियों ने 42.75 करोड़ प्रापर्टी टैक्स जमा कराया
ट्रूविजन ने किया टीएक्स408 जेड को लॉन्च
सरकार ने चालू वित्त वर्ष में विनिवेश से एक लाख करोड़ से अधिक जुटाए : जेटली