हरियाणा मेल ब्यूरो
17/10/2017  :  10:24 HH:MM
भावपूर्ण अभिनय करने में माहिर थी सिम्मी ग्रेवाल
Total View  19

हिन्दी सिनेमा जगत में सिम्मी ग्रेवाल को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने साठ एवं सत्तर के दशक में अपने रूमानी अंदाज और भावपूर्ण अभिनय से सिने प्रेमियों को दीवाना बनाया। 17 अक्तूबर 1947 को पंजाब के लुधियाना में एक सिख परिवार में जन्मी सिम्मी ग्रेवाल ने अपनी शिक्षा इंगलैंड में अंग्रेजी भाषा में पूरी की।लगभग 15 वर्ष की उम्र में सिम्मी ग्रेवाल बतौर अभिनेत्री बनने का सपना लेकर मुंबई आ गयी।

सिम्मी ग्रेवाल ने अपने सिने करियर की शुरुआत वर्ष 1962 में प्रदर्शित अंग्रेजी फिल्म ..टारजन गोज टू इंडिया ..से की।इस फिल्म में उनके नायक की भूमिका अभिनेता फिरोज खान ने निभाई।दुर्भाग्य से यह फिल्म टिकट खिडक़ी पर नकार दी गयी।वर्ष 1962 में ही राज की बात और सन ऑफ इंडिया जैसी फिल्में प्रदर्शित हुयी लेकिन इन फिल्मों से उन्हें कोई खास फायदा नही पहुंचा।वर्ष 1965 सिम्मी ग्र्रेवाल के सिने करियर के लिये महत्वपूर्ण वर्ष साबित हुआ।इस वर्ष उनकी तीन देवियां और जौहर महमूद इन गोआ जैसी फिल्में प्रदर्शित हुयी।फिल्म तीन देवियां में अभिनेता देवानंद के साथ काम करने का अवसर मिला।फिल्म की सफलता के बाद सिम्मी ग्रेवाल फिल्म इंडस्ट्री में कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गयी।

वर्ष 1966 में प्रदर्शित फिल्म ..दो बदन ..सिम्मी ग्रेवाल के करियर की महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुयी।राज खोसला के निर्देशन में प्रेम त्रिकोण पर बनी इस फिल्म में मनोज कुमार और आशा पारेख ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी ।इस फिल्म में सिम्मी ग्रेवाल ने एक डाक्टर की भूमिका निभाई थी 1फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयी ।वर्ष 1968 में प्रदर्शित फिल्म ..साथी ..सिम्मी ग्रेवाल के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शामिल है ।राजेन्द्र कुमार और वैजयंती माला की मुख्य भूमिका वाली इस फिल्म में सिम्मी ग्रेवाल ने अपने दमदार अभिनय से दर्शकों का दिल जीत लिया साथ ही अपने करियर में दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयी ।वर्ष 1970 में सिम्मी ग्रेवाल को राज कपूर के निर्देशन में बनी फिल्म ..मेरा नाम जोकर ..में काम करने का अवसर मिला ।इस फिल्म में उन्होंने एक युवा टीचर की भूमिका निभाई थी जिसे उसके स्कूल में पढऩे वाला छात्र ह्रश्वयार करने लगता है ।फिल्म में युवा छात्र की भूमिका ऋषि कपूर ने निभाई थी 1फिल्म में अपने बोल्ड दृश्यों के कारण सिम्मी ग्रेवाल को काफी आलोचना का सामना करना पड़ा था ।वर्ष 1970 में ही सिम्मी ग्रेवाल के करियर की एक और अहम फिल्म ..अरण्ये दिन रात्रि ..प्रदर्शित हुयी ।इस फिल्म में उन्हें पहली बार महान निर्माता-निर्देशक सत्यजीत रे के साथ काम करने का अवसर मिला ।

इस फिल्म में अभिनेत्री शर्मिला टैगोर की मौजूदगी के बावजूद सिम्मी ग्रेवाल दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब हो गयी । वर्ष 1976 में सिम्मी ग्रेवाल की कभी-कभी और चलते-चलते जैसी सुपरहिट फिल्में प्रदर्शित हुयी।फिल्म कभी कभी में उन्हें मशहूर निर्माता-निर्देशक यश चोपड़ा के साथ काम करने का अवसर मिला।फिल्म चलते चलते में किशोर कुमार की आवाज में उन पर फिल्माया यह गीत ..चलते चलते मेरे ये गीत याद रखना . आज भी श्रोताओं को भावविभोर कर देता है ।अभिनय में एकरुपता से बचने और स्वयं को चरित्र अभिनेत्री के रूप में भी स्थापित करने के लिये सिम्मी ग्रेवाल ने अपने को विभिन्न भूमिकाओं में पेश किया ।इस क्रम में उन्होंने सुभाष घई की सुपरहिट फिल्म ..कर्ज ..में खलनायिका का किरदार निभाया।पुनर्जनम पर आधारित इस फिल्म में उन्होंने एक ऐसी महात्वाकांक्षी युवती का किरदार निभाया जो दौलत के लालच में अपने पति का खून करने से भी नहीं हिचकती ।इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह सर्वश्रेष्ठ
सहायक अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामंकित की गयी ।नब्बे के दशक में सिम्मी ग्रेवाल ने फिल्मों में काम करना काफी हद तक कम कर दिया और छोटे पर्दे की ओर भी रूख कर लिया ।इस क्रम में वर्ष 1999 में स्टार ह्रश्वलस पर टॉक शो ..रेनदे विथ सिमी ग्रेवाल..की एंकरिंग और निर्देशन किया ।उनके शो पर समाज के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े लोग का इंटरव्यू पेश किया गया ।सिमी ग्रेवाल ने अपने सिने करियर में लगभग 40 फिल्मों में अभिनय किया है ।उनके करियर की उल्लेखनीय फिल्मों में कुछ है ..आदमी, अंदाज, नमक हराम, हाथ की सफाई, अहसास, द बर्निंग ट्रेन, इंसाफ का तराजू, प्रोफेसर ह्रश्वयारेलाल, बीबी ओ बीबी, हथकड़ी, लव इन गॉड आदि शामिल है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6162811
 
     
Related Links :-
‘बादशाह खान’ ने गाड़ी से उतरते ही छुए ममता बेनर्जी के पैर फिर लगया गले
‘तुम्हारी सुलु’ को मिली कमजोर ओपनिंग
‘बन्नो तेरा स्वैगर’ के बाद बिहार की स्वाति का ‘सेक्सी बार्बी गर्ल हो रहा हिट
जूही के किरदारों को अब भी याद करते हैं लोग
मुमताज ने किया था 16 एक्शन फिल्मों में काम
रूमानी अदाओं से दीवाना बनाया मीनाक्षी ने
कार दुर्घटना में बाल-बाल बचे अमिताभ बच्चन
हाभावनाअ ों को ठेस पहुंचाई तो शूर्पनखा की तरह नाक काट लेंगे
अपने काम से संतुष्ट है कैटरीना कैफ
प्रतिभा सिन्हा से था नदीम सैफी का अफेयर, इंटरव्यू में एक बात से चौंकाया था