19/10/2017  :  10:38 HH:MM
नेशनल पीपुल्स कांग्रेस का अधिवेशन शुरू
Total View  351

बीजिंग चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का 19वीं कांग्रेस बुधवार से शुरू हो गई। इस कांग्रेस में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का दोबारा राष्ट्रपति चुना जाना तय माना जा रहा है। पहले दिन शी जिनपिंग ने अपनी वर्क रिपोर्ट पेश की। उन्होंने कहा पार्टी कमांड का पालन करते हुए उनका जोर विश्व स्तरीय सशस्त्र बल विकसित करने पर है, ताकि वह भविष्य में मिलने वाली सैन्य चुनौतियों से मुकाबला कर सके।
बुधवार को पार्टी के करीब 2300 अधिकारियों की मौजूदगी में कांग्रेस शुरू हो गई। कम्युनिस्ट पार्टी की कांग्रेस 24 अक्टूबर तक चलेगी। अपनी वर्क रिपोर्ट पेश करते हुए शी ने कहा कि उन्होंने पिछले पांच साल में चीन की राष्ट्रीय स्वरूप का कायाकल्प किया। उनके कार्यकाल के दौरान चीन की जीडीपी 54 ट्रिलयन यूआन से बढक़र 80 ट्रिलयन यूआन तक पहुंच गई है। जिनपिंग ने कहा चीन अपने वास्तविक लक्ष्यों को तभी हासिल कर पाएगा, जब दुनिया में शांतिपूर्ण माहौल हो। उन्होंने कहा हमारा लक्ष्य एक ताकतवर सैन्य बल तैयार करना है। उल्लेखनीय है कि चीन में राष्ट्रपति का चुनाव नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (संसद की तरह प्रतिनिधि सभा) करती है, लेकिन आम तौर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना का पदाधिकारी ही राष्ट्रपति बनता है। भारत में तो कई पार्टियां हैं। वे चुनाव लड़ती हैं। जनता अपना नेता चुनती है। चीन में ऐसा नहीं है। चीन में सिंगल पार्टी रूल होने की वजह से पार्टी के नेता ही सरकार में रहते हैं। आम तौर पर पार्टी का महासचिव देश का राष्ट्रपति बनता है और पार्टी महासचिव के लिए कम्यूनिस्ट पार्टी प्रेसीडेंट पोस्ट रिजर्व रखती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5560371
 
     
Related Links :-
सीरिया ने विद्रोहियों के इलाके में रात में बरसाए बम-राकेट
अमेरिका से पैसा लेकर चीन का हुआ पुनर्निमाण : डोनाल्ड ट्रंप
पाक निर्वाचन आयोग ने अब्बासी और इमरान के नामांकन खारिज किए
ट्रंप के किम से वार्ता रद्द करने पर दक्षिण कोरिया में प्रदर्शन
किशनगंगा प्रॉजेक्ट के खिलाफ वल्र्ड बैंक पहुंचा पाकिस्तान
अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए रूस के सोची शहर पहुंचे पीएम
37 फिलिस्तीनियों की मौत 1600 से ज्यादा घायल
माल्या को एक और झटका: ब्रिटिश कोर्ट ने माल्या को बताया ‘कानून से भगोड़ा’
ईरानी सुरक्षाबलों ने गोलन में इजराइली ठिकानों पर दागी मिसाइले
मानवता के सामने सबसे बड़ा संकट है परमाणु वैज्ञानिकों-आतंकियों के बीच गठजोड़ : हास्पेल