19/10/2017  :  11:19 HH:MM
श्रीसंत ने कहा संघर्ष जारी रखेंग
Total View  358

नई दिल्ली स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसे क्रिकेटर एस श्रीसंत ने बीसीसीआई द्वारा लगाए आजीवन प्रतिबंध को बहाल करने पर कहा कि वह न्याय मिलने तक अपना संघर्ष जारी रखेंगे। श्रीसंत ने अपने प्रशंसकों को समर्थन के लिए धन्यवाद भी दिया। श्रीसंत ने केरल उच्च न्यायालय की खंडपीठ के प्रतिबंध बहाल करने के फैसले के बाद अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘मेरे लिए विशेष नियम पर चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स का क्या हुआ।’ इससे पहले खंडपीठ ने एकल न्यायाधीश की पीठ के फैसले के खिलाफ बीसीसीआई की याचिका पर यह फैसला सुनाया।

एकल पीठ ने श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था। श्रीसंत ने लिखा, ‘अब तक दिए समर्थन और उत्साहवर्धन के लिए सभी को धन्यवाद। मैं आश्वासन देता हूं कि मैं हार नहीं मानूंगा। मेरे पास सिर्फ मेरा परिवार और कुछ करीबी लोग हैं जो अब भी मेरे ऊपर विश्वास करते हैं। मैं संघर्ष जारी रखूंगा और तय करूंगा
कि मैं हार नहीं मानूं।’श्रीसंत ने आगे लिखा, ‘और लोढा समिति की रिपोर्ट के 13 आरोपियों का क्या। कोई इसके बारे में जानना नहीं चाहता। मैं अपने अधिकार के लिए संघर्ष जारी रखूंगा।’ वहीं केरल क्रिकेट संघ के सचिव जयेश जार्ज ने कहा कि केसीए श्रीसंत का समर्थन कर रहा था। जार्ज ने कहा, ‘हमने उसके पूर्ण फिटनेस टेस्ट से गुजरने का इंतजाम किया और उसे मैच फिट बनाने का भी। इस फैसले के साथ हमें इसका सम्मान करना होगा।’ गौरतलब है कि 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1937791
 
     
Related Links :-
पिलर आट्र्र में समालखा की दोनों टीमें विजयी
22 पदक विजेता खिलाडिय़ों को इनाम की पूरी राशि से नवाजेगी सरकार
ऋतिक ने विश्व श्रवण निशक्त कुश्ती में जीता ब्रांज
मैराथन में विजेता का खिताब मिला नीशू, हिमांशु और देवेंद्र पहल को
चंडीगढ़ करेगा कयाकिंग और कैनोइंग के वरिष्ठ राष्ट्रीय चैंपियनशिप की मेजबानी
हर विभाग में विवादित रहे हैं खेमका
अमज्योत के माता पिता ने बैन हटाने के लिएकी बीएफआई से अपील
क्रिकेटर कपिल देव की राजनीति में नई पारी के आसार
हरियाणा सरकार ने कदम खींच
हरियाणा क्रिकेट अकादमी पराजित