समाचार ब्यूरो
08/11/2017  :  09:15 HH:MM
कुछ नही मांगा सरकार झूठे आरोप लगा रही हैं : जुनैद के पिता
Total View  388

चंडीगढ़त्न फरीदाबाद के गांव खंदावली निवासी 16 वर्षीय जुनैद का पिता समझौते के लिए दो करोड़ रुपये और तीन एकड़ जमीन की मांगने के सरकार के आरोप पर जुनैद का पिता ने मंगलवार को हाईकोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा कि उसने ऐसा कुछ नही मांगा सरकार झूठे आरोप लगा रही हैं। इस मामले पर बुधवार को सुनवाई होगी। मुंबई के खंदावली निवासी 16 वर्षीय जुनैद की दिल्ली से ईद की खरीदारी करके लौटने के दौरान 22 जून को रेल में सीट विवाद के चलते हुई हत्या के मामले में हरियाणा पुलिस द्वारा की जा रही जाँच पर सवाल उठाते हुए जुनैद के पिता ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर इस मामले की सी.बी.आई. जाँच करवाए जाने की जो मांग की है। पिछली सुनवाई के दौरान हरियाणा सरकार की ओर से हाई कोर्ट को बताया गया कि, शिकायतकर्ता अब आरोपियों से मामले में समझौता करना चाहता है और इसेक लिए 2 करोड़ और तीन एकड़ जमीन की मांग की गई है सरकार ने कहा कि, शिकायतकर्ता ट्रायल कोर्ट के समन लेने से भी दो इंकार कर चूका है सरकार ने मामले में शिकायतकर्ता को सुरक्षा प्रदान की थी जिसे उसने वापिस कर दिया है बावजूद इसके सरकार ने गत दिवस ही दो सुरक्षा कमरी उनकी सुरक्षा के लिए दिए हैं सरकार के अनुसार अब तक शिकायतकर्ता ने किसी भी स्तर पर पुलिस द्वारा इस मामले में की जा रही जाँच पर सवाल नहीं उठाये हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2498007
 
     
Related Links :-
राष्ट्रीय अध्यक्ष के विरुद्ध अनुशासनहीनता के आरोपों पर भी विचार
पराली प्रबंधन: मोबाइल वैन किए रवाना
नये साल में मिलेगा फुटओवर ब्रिज का तोहफा
केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने किया , लगभग 44 करोड़ 70 लाख की लागत से बनेगा पलवल-रसूलपुर-हसनपुर मार्ग पर रेलवे ओवर ब्रिज का शिलान्यास
सैक्टर-4 मेला ग्राउंड में होगा दशहरे का आयोजन मुख्यमंत्री करेंगे रावण दहन की रस्म अदा
प्रकाश सिंह बादल ने सुरक्षा की पेशकश को ठुकराई
हरियाणा के स्कूलों, अस्पतालों का स्टेट्स चेक करेंगे केजरीवाल
फिर से एसवाईएल के सहारे जनता की नब्ज टटोलेगी इनेल
कानून बनाकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करे सरकार
यूपी और उत्तराखंड के पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी नहीं रहे